वाशिंगटन:अमेरिका (America) के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण फैलने के लिए एक बार फिर चीन (China) को जिम्मेदार ठहराया है. ट्रंप ने कहा है कि चीन ने भयानक गलती की है और फिर उसे छुपाने की कोशिश भी की. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप कोरोना वायरस के लिए लगातार चीन को कठघरे में खड़े कर रहे हैं.

डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले दिनों कहा था कि वुहान के लैब से ही कोरोना वायरस लीक हुआ है और इस बात के उनके पास पुख्ता सबूत हैं. इसके बाद ट्रंप ने एक बार फिर चीन पर निशाना साधा है.

ट्रंप बोले- शी जिनपिंग शासन ने पूरी दुनिया को गुमराह किया
रविवार को फॉक्स न्यूज वर्चुअल टाउन हॉल मीटिंग में वाशिंगटन के लिंकन मेमोरियल में ट्रंप ने ये बातें कहीं. इसके ठीक पहले अमेरिका के विदेशमंत्री माइक पॉम्पियो ने चीन पर हमला बोला था. माइक पॉम्पियो ने कहा था कि उनके पास पुख्ता सबूत हैं कि कोरोना का संक्रमण चीन की वजह से फैला.

डोनाल्ड ट्रंप ने ये भी आरोप लगाया है कि कोरोना वायरस को लेकर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के शासन ने पूरी दुनिया को गुमराह किया है.

ट्रंप ने कहा है कि मुझे नहीं लगता है कि इस बारे में कोई सवाल उठता है. हम वहां जाना चाहते हैं लेकिन वो नहीं चाहते कि हम वहां जाएं. जो कुछ चीजें वहां से आ रही हैं वो काफी संदिग्ध हैं. मुझे नहीं लगता है कि अब कोई सवाल रह गया है.

चीन ने मेडिकल उपकरणों की जमाखोरी के लिए छिपाई महामारी की बात
ट्रंप ने कहा है कि व्यक्तिगत तौर पर मुझे लगता है कि उनलोगों ने भयानक भूल की है और अब वो इसे स्वीकार नहीं कर रहे हैं.

ट्रंप का बयान डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी की रिपोर्ट आने के बाद आया है. रविवार को इस रिपोर्ट में कुछ अमेरिकी अधिकारियों ने कहा है कि चीन ने जानबूझकर जनवरी में कोरोना के संक्रमण की बात छुपाई ताकि वो मास्क और पीपीई किट की जमाखोरी कर सकें.

एसोसिएट प्रेस को 4 पन्नों की ये रिपोर्ट हाथ लगी है, जिसमें कहा गया है कि चीन ने कोरोना के संक्रण को पहले जानबूझ कर कम करके दिखाया ताकि वो मेडिकल उपकरणों का आयात ज्यादा से ज्यादा कर ले और निर्यात में कमी ले आए.

इसके पहले अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने रविवार को कहा कि इस बात के काफी सबूत हैं कि कोरोना की महामारी चीन के वुहान लैब से ही पूरी दुनिया में फैली है. एबीसी को दिए इंटरव्यू में उन्होंने ये बातें कहीं. उन्होंने कहा कि महामारी कहां से फैली है इस बात के काफी सारे सबूत हैं. अमेरिकी विदेश मंत्री ने कोरोना वायरस को लेकर चीन की तीखी आलोचना की है. हालांकि उन्होंने इसका जवाब देने से इनकार कर दिया कि क्या चीन ने जानबूझकर कोरोना वायरस का संक्रमण फैलाया.