नई दिल्ली, टैक्सी सेवा प्रदान करने वाली घरेलू कंपनी मेर कैब्स ने ओला, उबर पर बाजार में अपने दबदबे की स्थिति का दुरपयोग करने का आरोप लगाते हुये भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग सीसीआई में शिकायत दर्ज कराई है। मेर कैब्स ने कहा कि ये कंपनियां चार शहरों के बाजार में अनुचित व्यावसायिक व्यवहार में लिप्त हैं। कंपनी ने सीसीआई में चार अलग-अलग शिकायतें दर्ज करते हुये आरोप लगाया कि ओला और उबर विदेशी निवेशकों का पैसा लगाकर बाजार में बाधा पहुंचा रहे हैं।

हाल ही में बेंगलुर बाजार को लेकर ओला पर इसी तरह के आरोप लगे थे, जिसे सीसीआई ने खारिज कर दिया था। साथ ही उसने पूरी तरह से विकसित नहीं हुये टैक्सी सेवा बाजार में हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया था। मेर कैब्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी नीलेश संघोई ने पीटीआई भाषा से कहा, हमने चार शहरों में परिचालन को लेकर ओला और उबर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।

दोनों कंपनियों ने बाजार में विदेशी पैसा डालकर और बिक्री सेवाओं को लागत से कम कीमत पर देकर व्यापार की गतिशीलता को बाधित किया है, उन्होंने आगे कहा कि ओला और उबर दोनों आपस में प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं इससे बाजार में एकाधिकार जैसी स्थिति पैदा हो रही है, नीलेश ने आरोप लगाया कि ओला और उबर ड्राइवरों को अधिक सब्सिडी, ग्राहकों को अव्यावहारिकै छूट देकर टैक्सी सेवा बाजार को प्रभावित कर रहे हैं। ओला और उबर ने अपने ऊपर लगे आरोपों पर प्रतिक्रिया देने से इनकार किया है। ओला ने बुधवार को चीन के टेंसेंट होल्डिंग्स और सॉफ्टबैंक समूह से ताजा निवेश के रूप में 1.1 अरब डॉलर रपये जुटाने की घोषणा की है।