सांगली, शिव प्रतिष्ठान संगठना ने मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस और खाद्य आपूर्ति मंत्री गिरीश बापट को फेसबुक पर जान से मारने की धमकी देने वाले से कोई भी संबंध होने से इनकार किया है। शिव प्रतिष्ठान के सचिव नितिन चौगुले ने एक बयान में कहा कि इस संबंध में दलित नेता प्रकाश अंबेडकर द्वारा लगाया आरोप बेबुनियाद है। अंबेडकर ने कहा था कि भीमा कोरेगांव घटना में संलिप्त लोगों से मुख्यमंत्री को खतरा है।

संभाजी भिडे के करीबी सहयोगी ने सोसल मीडिया पर एक संदेश में फडनवीस और गिरीश बापट को धमकी दी गयी थी। अंबेडकर ने कहा कि संदेश से स्पष्ट होता है ये लोग अपने उद्देश्य के लिए कुछ भी कर सकते हैं और यदि कोई रुकावट पैदा करेगा तो उसका जीवन लेने से भी नहीं कतरायेंगे। चौगुले ने आरोप लगाया है कि अंबेडकर ने राजनीतिक फायदे के लिए इस तरह का बयान दे कर सामाजिक ताने-बाने को नष्ट करना चाहते हैं।