मुंबई: हंगामा करने और सुरक्षा तोड़ने वाले यात्रियों के लिए 'नो फ्लाई लिस्ट' को लागू करने के 8 महीने बाद, मुंबई के ज्वैलर बिरजु किशोर सल्ला पहले ऐसे व्यकित हैं जिन्हें इसमें शामिल किया गया है, ज्वैलर बिरजु ने पिछले साल जेट एयरवेज के विमान के अपहरण होने की झूठी खबर फैलाई थी, खबर के मुताबिक 30 अक्टूबर, 2017 को एयरवेज के मुंबई-दिल्ली फ्लाइट की बिजनेस क्लास के शौचालय में सल्ला ने प्लेन के अपहरण होने की खबर छोड़ी थी, जिसमें प्लेन को अहमदाबाद की ओर जबर्दस्ती डायवर्ट करने को कहा गया था, इस कार्रवाई के बाद विमानन कंपनी जेट एयरवेज ने सल्ला को पांच सालों तक अपने विमान में बैठने पर प्रतिबंध लगा दिया है,

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ''विमानन कंपनियों में यह पहला केस हैं जिसमें किसी को 'नो फ्लाई लिस्ट' में रखा गया है, जेट एयरवेज ने हमें सूचित किया है कि समुचित कार्यवाही के बाद उन्होंने सुरक्षा से खिलावाड़ करने के लिए सल्ला को  अगले पांच सालों के लिए प्रतिबंध सूची में डाल दिया है, जिसकी अवधि नवंबर 2017 से शुरू हो गई है, यह विमानन कंपनियों की जिम्मेदारी है कि वे दूसरी कंपनियों को भी सूचित करें और फिर उनपर निर्भर करता है कि क्या वे भी उस व्यक्ति को 'नो फ्लाई लिस्ट' में रखना चाहते हैं या फिर नहीं, हम ऐसे व्यक्तियों का डाटाबेस तैयार करेंगे, जिन्हें इस लिस्ट में रखा जाएगा,