नई दिल्ली, इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के खिलाफ वहां की पुलिस कथित भ्रष्टाचार के दो मामलों में मुकदमा चलना चाहती है। इस दौरान इजरायल पुलिस ने जांच की सिफारिश की है। नेतन्याहू को औपचारिक रूप से आरोपी अभ्यारोपित करने की जिम्मेदारी एटॉर्नी जनरल कार्यालय की है।

नेतन्याहू पर लगे आरोपों पर न्याय मंत्री आयलेत शाकेड ने कहा कि जिन अपराधों के चलते जांच की बात हो रही है उनमें इस्तीफा देने की बाध्यता नहीं है। पुलिस ने कहा है कि नेतन्याहू पर मुकदमा चलाने के लिए उनके पास पर्याप्त सबूत हैं। नेतन्याहू पर रिश्वत लेने, धोखाधड़ी करने और भरोसा तोडऩे जैसे गंभीर आरोप हैं जिन पर पुलिस जांच की मांग कर रही है।

हालांकि सभी आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए नेतन्याहू ने एक सरकारी चैनल पर कहा कि इन आरोपों से कोई नतीजा नहीं निकलने वाला और वे पद पर बने रहेंगे। बता दें कि पुलिस ने इस सिफारिश से पहले नेतन्याहू से 7 बार पूछताछ की है, जिसके बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। नेतन्याहू पर आरोप है कि उन्होंने हॉलीवुड निर्माता आर्नन मिलचन से करीब 1 लाख डॉलर के तोहफे लिए हैं। हालांकि नेतन्याहू पिछले 12 सालों से इजरायल के प्रधानमंत्री हैं और उनपर पहले भी ये आरोप लगते रहें हैं।