लखनऊ । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को कहा कि अतीत से भटका समाज कभी अपने उज्‍जवल भविष्य का आधार नहीं रख सकता। हमारा अतीत ही हमें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है और महाराणा प्रताप के जीवन और शौर्य से हमें प्रेरणा लेनी चाहिए। महाराणा प्रताप की जयंती के अवसर पर गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक कार्यक्रम में यह बाते कहीं।

उन्होंने कहा, "महान अकबर नहीं, महाराणा प्रताप थे क्योंकि उन्होंने अपने स्वाभिमान के साथ कभी समझौता नहीं किया।"

मुख्यमंत्री ने कहा, "अतीत से भटका समाज कभी अपने उज्‍जवल भविष्य का आधार नहीं रख सकता। हमारा अतीत ही हमें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है और महाराणा प्रताप के जीवन और शौर्य से हमें प्रेरणा लेनी चाहिए।"

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राणा प्रताप ने अकबर के दूतों को दो टूक कहा था कि विदेशी को हम अपना बादशाह नहीं स्वीकार कर सकते। वनवासी समाज आज भी अपने को राणाप्रताप का वंशज मानते हैं।

इस अवसर पर सीएम योगी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख नरेंद्र ठाकुर ने पत्रिका युवा शौर्य विशेषांक का विमोचन भी किया।