रायपुर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बस्तर दौरे से ठीक एक दिन पहले गुरुवार को नक्सलियों ने दंतेवाड़ा में एक बस को उड़ा दिया। बचेली इलाके में यह ब्लास्ट आईईडी से किया गया। हमले में सीआईएसएफ का एक जवान शहीद हो गया और तीन नागरिकों की मौत हो गई। 
चुनाव ड्यूटी पर कोलकाता से आए थे जवान
एंटी नक्सल आॅपरेशन के स्पेशल डीजी डीएम अवस्थी ने बताया, सीआईएसएफ के जवान मिनी बस से बचेली खरीदारी करने गए थे। लौटते वक्त बस में कुछ नागरिक भी बैठ गए। पहाड़ी मोड़ पर नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट कर दिया। हमले में हेड कांस्टेबल डी मुखोपाध्याय शहीद हो गए और चालक रमेश पाटकर, हेल्पर रोशन लाल साहू, ट्रक ड्राइवर सुशील बंजारे व उसके हेल्पर जोहन की भी जान चली गई। दो जवानों पठाए सतीश और विशाल सुरेश गंभीर रूप से घायल हैं। मरने वालों को आंकड़ा बढ़ सकता है। सीअाईएसएफ के जवान 502 बटालियन कोलकाता से चुनाव ड्यूटी में आए थे।  मिनी बस चुनाव ड्यूटी में लगी हुई थी और इसमें 9 लोग सवार थे। 
पिछले महीने भी दंतेवाड़ा में हुआ था हमला
पिछले महीने 30 अक्टूबर को दंतेवाड़ा के नीलावाया में खुलने वाले मतदान केंद्र की ओर जा रही पुलिस पार्टी पर घात लगाए नक्सलियों ने हमला कर दिया था। इसमें डीआरजी के एसआई रूद्रप्रताप सिंह, सहायक आरक्षक मंगलू मंडावी और दूरदर्शन न्यूज के कैमरामैन अच्युतानंद साहू की मौत हो गई थी। 
इसी हफ्ते नक्सली कमांडर मारा गया
ओडिशा बॉर्डर पर सोमवार को मुठभेड़ में जवानों ने नक्सली नेता समेत 5 साथियों को मार गिराया था। मारे गए नक्सलियों में कालीमेला दलम का मुखिया रणदेब भी शामिल था।