नई दिल्ली.65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों में श्रीदेवी को मरणोपरांत फिल्म मॉम के लिए बेस्ट एक्ट्रेस चुना गया। वहीं, राजकुमार राव की 'न्यूटन' को सर्वश्रेष्ठ हिंदी फिल्म का पुरस्कार मिला। इसी में अभिनय के लिए पंकज त्रिपाठी को स्पेशल अवॉर्ड दिया गया है। 'बाहुबली 2 : द कन्क्लूजन' एक्शन डायरेक्शन और पॉपुलैरिटी के मामले में सर्वश्रेष्ठ रही। आज दिल्ली में पुरस्कारों का एलान करते हुए कमेटी के चेयरमैन शेखर कपूर ने बताया कि विनोद खन्ना को मरणोपरांत दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड से नवाजा जाएगा।
बेस्ट फिल्म (हिंदी):न्यूटन
बेस्ट फिल्म (ऑल लैंग्वेज):विलेज रॉकस्टार (असमिया)

बेस्ट एक्टर:रिद्धी सेन, फिल्म- नगरकीर्तन (बंगाली)

बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस: दिव्या दत्ता (इरादा)

बेस्ट बैकग्राउंड स्कोर: ए. आर. रहमान (मॉम)

बेस्ट डायरेक्टर:जयराज, फिल्म- भयानकम (मलयाली)
बेस्ट एक्शन डायरेक्शन-अब्बास अली मोघुल, फिल्म- 'बाहुबली 2 : द कन्क्लूजन'

बेस्ट पॉपुलर फिल्म- 'बाहुबली 2 : द कन्क्लूजन'

बेस्ट कोरियोग्राफी:'गोरी तू लठ मार' (टायलट: एक प्रेमकथा') के लिए गणेश आचार्य को मिला।

बेस्ट मराठी फिल्म-कच्चा नींबू

वेस्ट उड़िया फिल्म-हेल्लो अर्सी

मरणोपरांत

दादा साहेब फाल्के: यह अवॉर्ड विनोद खन्ना को मिलेगा। 27 अप्रैल, 2017 को 71 साल की उम्र में खन्ना का निधन हो गया था।

बेस्ट एक्ट्रेस:श्रीदेवी को उनकी 300वीं फिल्‍म 'मॉम' के लिए यह पुरस्‍कार मिला। इसी साल 24 फरवरी को उनका निधन हुआ।

ऑस्कर के लिए भी नॉमिनेट हुई थी न्यूटन

- न्यूटन पिछले साल 22 सितंबर को रिलीज हुई थी। राजकुमार राव इसमें लीड रोल में थे। इसके डायरेक्टर अमित मासुरकर हैं।

- फिल्म की कहानी एक सरकारी क्लर्क के इर्द-गिर्द घूमती है, जो स्वतंत्र और ठीक तरह से नक्सल प्रभावित इलाकों में चुनाव करवाने की भरपूर कोशिश करता है। फिल्म में पंकज त्रिपाठी, रघुबीर यादव, अंजलि पाटिल, दानिश हुसैन और संजय मिश्रा अहम भूमिकाओं में नजर आए।

- फिल्म को भारत की तरफ से ऑस्कर के लिए एंट्री भी मिली थी। कमेटी ने ‘न्यूटन’ को 26 एंट्रीज में से सर्वसम्मति से चुना था।