गुवाहाटी, भारत के खिलाफ दूसरे ट्वेंटी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच में आस्ट्रेलिया की आठ विकेट की जीत के बाद मैन ऑफ द मैच चुने गए तेज गेंदबाज जेसन बेहरेनडोर्फ अपने प्रदर्शन से काफी खुश हैं लेकिन उनका अंतिम लक्ष्य लंबे समय तक टेस्ट क्रिकेट खेलना है। बेहरेनडोर्फ ने आस्ट्रेलिया की आठ विकेट की जीत में 21 रन देकर चार विकेट झटके और इसके लिये उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। उन्होंने कहा, टेस्ट क्रकेट सबसे बड़ा पुरस्कार है और निश्चित रूप से सभी क्रिकेटर आस्ट्रेलियाई टीम की हरे रंग की कैप पहनना का सपना संजोये होते हैं और मैं भी ऐसा ही करना चाहता हूं। मैं टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए सबकुछ कर रहा हूं।

रांची में पदार्पण मैच में उन्होंने सिर्फ एक ओवर फेंका था और इस तेज गेंदबाज ने बादलों भरे मौसम का पूरा फायदा उठाते हुए भारत के शीर्ष चार बल्लेबाज रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली और मनीष पांडे को 15 गेंद में आउट कर दिया। उन्होंने कहा, सच कहूं तो यह अहसास अद्भुत है। रांची में एक ओवर मिलना ही अच्छा था लेकिन इस मैच में चार ओवर में चार विकेट झटकना और मैच जीतना तथा वो भी वनडे में खराब प्रदर्शन के बाद बहुत विशेष रहा। बेहरेनडोर्फ ने कहा, मैं सचमुच इस प्रदर्शन से काफी खुश था। कुछ गेंद पर बाउंड्री भी लगी, मुझे निश्चित रूप से ऐसी गेंदबाजी नहीं करनी।