उज्‍जैन: मध्‍य प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टियां फ्रंटफुट पर हैं, प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बयान देते हुए कहा है कि पिछले पंद्रह सालों से कमलनाथ की पार्टी को 50 सीटों के आसपास रहने की आदत पड़ गई है, इस बार भी वो कुछ कमाल नहीं कर पाएंगे, भाजपा अपने मूलमंत्र के दम पर इस बार 200 के पार होकर चौथी बार प्रदेश में सरकार बनाएगी, 

कर्नाटक में लोकतंत्र की हत्या के आरोपों का जवाब देते हुये नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि बहुमत के करीब 104 सीटों वाली पार्टी की बजाय 78 या 40 सीटों वाली पार्टी को राज्यपाल आमंत्रित करते तो क्या लोकतंत्र सुरक्षित हो जाता, राज्यपाल का निर्णय सही है और येदुरप्पा ही मुख्यमंत्री रहेंगे, सड़क मार्ग से रीवा जाते समय मंत्री नरोत्तम मिश्रा अचानक मैहर में रुके और उनका काफिला मां शारदा मंदिर की ओर मुड़ गया, मंदिर पहुंचकर मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने श्रद्धा भाव से मां के दर्शन किए और अपने हाथों से संध्या आरती भी की, 

वहीं बीजेपी की मध्यप्रदेश इकाई के अध्यक्ष राकेश सिंह ने भी गुरुवार को देवास के खातेगांव में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में चौथी बार भाजपा की सरकार बनेगी और इस बार 200 से ज्यादा सीटें मिलेगी, सिंह ने आगे कहा कि विधानसभा चुनाव में हमारे सामने कोई चुनौती नहीं है, चुनाव हमारे लिए चुनौती नहीं, अवसर है, हमारी सरकार ने जनकल्याण के इतने काम किए हैं कि कार्यकर्ता विश्वास के साथ जनता के बीच जाएंगे, बता दें कि प्रदेश में कुल 230 विधानसभा सीटें हैं, इनमें से 165 विधानसभा सीटें बीजेपी के खाते मे हैं,