भोपाल: मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान राज्य की बेटियों की आबरू बचाने के लाख दावे कर लें, लेकिन प्रदेश में दुष्कर्म की घटनाएं थमने का नाम नही ले रही है। मध्य प्रदेश के मंदसौर में सात साल की मासूम के साथ दुष्कर्म किए जाने का मामला अभी शांत भी नही हुआ है और अब रायसेन जिले में भी एक घटना सामने आई हैं। रायसेन जिले के देवरी में 13 साल की एक नाबालिग छात्रा का अपहरण तीन युवकों ने अपहरण कर लिया। इसके बाद उन्होंने दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। पुलिस ने मामला दर्ज कर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, एक आरोपी अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है। आपको बता दें कि बीते कुछ दिनों के भीतर नाबालिग से रेप की ये तीसरी घटना है।

देवरी थानाक्षेत्र के गहलावन गांव की आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली एक नाबालिग छात्रा का शौच के लिए जाते समय गांव के तीन लड़कों ने अपहरण कर लिया। अपहरण करने के बाद आरोपी उसे सुनसान जगह ले गए और उनमें से दो आरोपियों ने पीड़िता को जबरन शराब पिलाई। शराब पिलाने के बाद आरोपियों ने छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया. नाबालिग छात्रा से रेप की यह घटना 6 जुलाई की बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि छात्रा के साथ दुष्कर्म का आरोपी कपिल पहले भी छात्रा के साथ छेड़छाड़ कर चुका था। घटना वाले दिन कपिल ने अपने दो साथियों रम्मू और बिल्ला के साथ मिलकर छात्रा का अपहरण कर लिया। वहीं, बेटी के  काफी देर तक गायब रहने से परेशान परिजनों ने डायल 100 पर सूचना दी। दोपहर बाद सदमाग्रस्त छात्रा ने घर पहुंचकर किसी से कुछ नहीं बताया।

छात्रा ने 9 जुलाई को अपनी मां से पूरी घटना बताई. इसके बाद पीड़िता के परिजनों ने देवरी थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने नाबालिग का अपहरण कर सामूहिक रेप के मामले में तीनों आरोपियों पर मामला दर्ज कर लिया। पुलिस ने मंगलवार को दो आरोपियों रम्मू ओर बिल्ला को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश कर दिया। वहीं, तीसरे आरोपी कपिल की तलाश की जा रही है। पुलिस ने पीड़िता के मजिस्ट्रेट के सामने 164 के तहत बयान दर्ज कराए हैं। पुलिस ने दुष्कर्म, अपहरण की धाराओं सहित पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।