जबलपुर: देश के कुछ राज्‍यों में जहां मानसून ने लोगों को गर्मी से राहत दी है तो वहीं कई राज्‍य अभी भी बारिश के इंतजार में हैं. मध्‍य प्रदेश के शहर पानी की समस्‍या से परेशान हैं तो कई गांवों में सूखा पड़ा हुआ है. इसी बीच छतरपुर में अच्छी बारिश  आने के लिए एक में मेढ़क-मेढ़की की शादी कराई गई है जिसमें विधि-विधान से रस्‍में संपन्‍न कराई गईं.  

कहते है जब सभी ओर से लोग निराश हो जाते हैं तो ईश्वर की याद आती है. ऐसा ही हाल मध्‍यप्रदेश के छतरपुर का है जहां पिछले साल कम बारिश से सूखा पड़ा हुआ है.  जिले के सारे नदी, तालाब और कुएं हैडपंप सूख गए हैं. इस साल मानसून में अच्छी बारिश हो इसके लिए लोग ही नहीं मंत्री भी ना जाने कौन-कौन से टोने टोटको का सहारा ले रहे हैं. 

शादी में हुआ भोज का आयोजन 
प्रदेश की महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री ललिता यादव ने अच्‍छी बारिश के लिए एक टोटका करते हुए स्थानीय फूला देवी मंदिर में पहले पूजा-अर्चना की और फिर विधि-विधान से मेढ़क और मेढ़की की शादी कराई गई. इस शादी के दौरान महिलाओं ने शादी के गीत गाए और फिर शादी की खुशी में लोगों को भोजन भी कराया गया. 

इन्द्र देवता होते हैं खुश 
राज्यमंत्री का मानना है कि विधानों में है टिटहरी अंडे दे तो अच्छी उस साल बारिश  होती है और इसलिए  मेढक-मेढकी की शादी करवाई जाती है. ऐसा करने से इन्द्र देवता खुश होते हैं और अच्छी वारिश होती है. वहीं पुजारी का मानना है कि ऐसा करने से ऊपर वाला अच्छी बारिश करता है और ये विधान ग्रंथों में लिखा हुआ है.