मुंबई. महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (Maharashtra Navnirman Sena) प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray) ने मुंबई में अवैध रूप से रह रहे पाकिस्तानी और बांग्लादेशियों के खिलाफ मुहिम छेड़ रखी है. औरंगाबाद में मनसे ने एक पोस्टर जारी किया है जिसमें मराठी में लिखा है पाकिस्तानी और बांग्लादेशी घुसपैठियों की जानकारी देने वाले को 5000 रुपये का इनाम दिया जाएगा. इससे पहले भी मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने घुसपैठियों को निकालने के लिए रैलियां की थी. उसमें मनसे कर्यकर्ताओं ने कहा था कि इन लोगों को निकालने के लिए अपनी स्टाइल में तैयारी कर ली है. घुसपैठियों को बाहर निकालने के लिए कई पोस्टर भी लगाए थे.

राज ठाकरे ने कहा-सरकार अपने पराए की करे पहचान
राज ठाकरे का कहना है कि सरकार को अपने पराए की पहचान करना चाहिए. जो लोग घुसपैठिए हैं उन्हें देश से बाहर निकालना चाहिए ना कि उन्हें नागरिकता देने चाहिए. इन लोगों के कारण हम अपने लोगों का हक मार रहे हैं, उन्हें नौकरियों में दिक्कते आ रही है. सरकार को पहले अपने लोगों की चिंता करना चाहिए.

जो यहीं पैदा हुए उन्हें सीएए से नहीं डर
गौरतलब है कि इससे पहले भी मनसे प्रमुख ने अवैध पाकिस्तानी-बांग्लादेशी प्रवासियों को देश के बाहर निकालने के लिए जुलूस निकाला था. इस दौरान राज ठाकरे के साथ उनके बेटे अमित ठाकरे और पत्नी शर्मिला ठाकरे भी थे.

राज ठाकरे ने कहा था, "मुझे समझ नहीं आता कि सीएए के खिलाफ मुसलमान आखिर क्यों प्रदर्शन कर रहे हैं. सीएए सिर्फ उन मुसलमानों के लिए है जो भारत में आकर बस गये हैं ना कि उनके लिए जो यहीं पैदा हुए हैं.