नई दिल्ली:बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले पार्टी के संगठनात्मक तंत्र को चुस्त दुरूस्त करने के लिए शुरू राष्ट्रव्यापी यात्रा का समापन 22 जुलाई को करेंगे. इस दौरान आने वाले दिनों में उनका राजनीतिक दृष्टि से महत्वपूर्ण उत्तरप्रदेश और बिहार जाने का कार्यक्रम है.

अमित शाह आज केरल जाएंगे . इसके बाद 4 और 5 जुलाई को उत्तरप्रदेश में रहेंगे तथा 11 जुलाई को झारखंड जाएगे . उनका 12 जुलाई को बिहार जाने का कार्यक्रम है.भाजपा सूत्रों ने बताया कि शाह 22 जुलाई को मुम्बई में महाराष्ट्र और गोवा की पार्टी इकाई के साथ बैठक करेंगे.

सूत्रों ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष की इन यात्राओं का मकसद संसदीय चुनाव पर जोर देना है . इन यात्राओं के दौरान वह पार्टी की कोर समूह के अलावा अनुसूचित जाति, जनजाति के नेताओं के साथ बैठक करेंगे.

‘लोकसभा टोली’ का गठन किया गया
आम चुनाव को ध्यान में रखते हुए ‘लोकसभा टोली’ का गठन किया गया है और राज्यों में प्रत्येक संसदीय क्षेत्र के हिसाब से पूर्णकालिक नेताओं को इनका प्रभारी बनाया गया है. अपनी यात्रा के दौरान शाह पार्टी की सोशल मीडिया टीम से भी मुलाकात करेंगे.

सूत्रों ने बताया कि वह 18 राज्यों का दौरा कर चुके हैं . आंध्रप्रदेश और राजस्थान जैसे कुछ राज्यों के संदर्भ में बैठक दिल्ली में हुई है लेकिन अधिकांश राज्यों में शाह ने दौरा किया है. अमित शाह चार जुलाई को उत्तरप्रदेश के मिर्जापुर जाएंगे और पांच जुलाई को आगरा जाएंगे . सूत्रों ने बताया कि 2014 के चुनाव के बाद से शाह ने करीब 395 लोकसभा सीटों का दौरा किया है.