जयपुर। आरएएस, आरपीएस व आरएसीएस में सीनियर से सलेक्शन स्केल में प्रमोशन के लिए अनुभव में मिल रही शत-प्रतिशत छूट खत्म की जाएगी। इस फैसले से तीनों सेवाओं के करीब 150 से ज्यादा अफसर प्रभावित होंगे। वित्त नियम विभाग ने कार्मिक विभाग को इस संबंध में एक प्रस्ताव बनाकर भेजा है। प्रस्ताव में सीनियर से सलेक्शन स्केल में प्रमोशन के लिए कम से कम तीन साल के अनुभव को शामिल करने की बात कही गई है। आरएएस सेवा में सीनियर से सलेक्शन स्केल में अनुभव की छूट पहले से थी। 

मौजूदा सरकार ने इसे आरपीएस व आरएसीएस में लागू कर दिया। इससे पहले सीनियर से सलेक्शन में प्रमोशन के लिए 5 साल के अनुभव की जरूरत थी। इसके चलते 2010 बैच के अफसर सात सालों में ही सीधे सलेक्शन स्केल पर पहुंच गए। सेवा में भर्ती होने पर दो साल का प्रोबेशन पूरा होने पर उन्हें सबसे पहले 5400 ग्रेड पे की जूनियर स्केल मिलती है। इसके बाद सीनियर स्केल के लिए पांच साल का अनुभव चाहिए। सीनियर स्केल में यह ग्रेड 6600 हो जाती है। लेकिन सीनियर स्केल से 7600 की सलेक्शन स्केल में पहुंचने के लिए कोई अनुभव की जरूरत नहीं है।