नई दिल्ली: अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में छह से 18 अक्टूबर के बीच तीसरे यूथ ओलिंपिक होने हैं। इसमें भारत के 46 खिलाड़ियों समेत 68 सदस्यीय दल हिस्सा लेगा। यूथ ओलिंपिक में हिस्सा लेने वाला भारत का यह अब तक का सबसे बड़ा दल है। दल की ध्वजवाहक युवा निशानेबाज मनु भाकर होंगी। गोवा ओलिंपिक संघ के सचिव गुरुदत्ता डी भक्त चीफ डि मिशन हैं। भारतीय ओलिंपिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष नरेंदर बत्रा ने इसका ऐलान किया। 

13 खेलों में 46 खिलाड़ी भारतीय चुनौती पेश करेंगे
यूथ ओलिंपिक में भारत के 46 खिलाड़ी 13 खेलों में भारत में चुनौती पेश करेंगे। इनमें से तीरंदाजी के दो, एथलेटिक्स के सात, बैडमिंटन के दो, बॉक्सिंग के एक, हॉकी के नौ-नौ (पुरुष-महिला), जूडो के एक, रोइंग के दो, शूटिंग के चार, क्लाइम्बिंग के एक, स्विमिंग के दो, टेबल टेनिस के दो, वेटलिफ्टिंग के दो और कुश्ती के दो खिलाड़ी हैं। 

ध्वजवाहक बनाए जाने पर मनु ने कहा, ‘यह मेरे लिए बड़ा सम्मान है। मैंने इसके बारे में कभी नहीं सोचा था।’ केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने टूर्नामेंट के लिए जा रहे भारतीय खिलाड़ियों को बधाई दी और उनसे पदक के साथ स्वदेश लौटने की उम्मीद जताई।

राठौड़ ने कहा, ‘वे दिन अब गए, जब भारतीय केवल भागीदारी के लिए बड़े टूर्नामेंट में हिस्सा लेते थे। मैं जानता हूं कि आप सभी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगे और देश के लिए पदक जीतने में सफल रहेंगे।’ 

उन्होंने कहा, ‘खेल पर अपना ध्यान बनाए रखना और अनुशासित रहना, क्योंकि आप देश के दूत हो। किसी को भी ऐसा काम नहीं करना चाहिए जिससे देश की छवि धूमिल हो। मैं आप सभी को शुभकामनाएं देता हूं।’