महाराष्ट्र, महाराष्ट्र के पुणे एवं पालघर जिलों में आग लगने की अलग-अलग घटनाओं में 3 लोगों की मौत हो गई। पुणे में प्रिटिंग प्रेस सह गत्ता निर्माण कंपनी में बुधवार को आग लग जाने से इसमें जलकर 2 मजदूरों की मौत हो गई। वहीं पालघर जिले के कासा इलाके में स्थित 3 मंजिला इमारत में बुधवार तडक़े भीषण आग लग जाने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। दमकल विभाग के अधिकारियों ने बताया कि बुधवार तडक़े करीब 3 बजे उन्हें फोन पर पुणे के शिवाजीनगर इलाका स्थित हिमालय इस्टेट बिल्डिंग में आग लगने की सूचना मिली।

विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि घटनास्थल पहुंचने पर उन्होंने पाया कि आग भवन के अंदर स्थित एक प्रिंभटग प्रेस सह गत्ता निर्माण कंपनी में लगी थी। उन्होंने बताया कि चूंकि कंपनी उस वक्त बंद थी इसलिए हमें उसका शटर तोडऩा पड़ा। पुलिस ने बताया कि बाद में घटनास्थल से दो मजदूरों के शव बरामद किए गए। घटना के वक्त वे यूनिट के अंदर सो रहे थे। दमकल विभाग के अधिकारी ने बताया कि परिसर के अंदर कागज की बनी काफी सारी सामग्री पड़ी थी इसलिए आग तेजी से फैल गयी।

आग बुझाने के लिये दमकल की कई गाडिय़ों को रवाना किया गया। उन्होंने बताया कि आग लगने के बाद घटनास्थल पर तापमान नियंत्रण का काम जारी है। उन्होंने बताया कि आग संभवत: शॉर्ट सॢकट की वजह से लगी, हालांकि आग लगने के वास्तविक कारणों का पता लगाया जा रहा है। मामले में जांच जारी है। इधर, पालघर की जिला ग्रामीण पुलिस ने बताया कि तडक़े करीब साढ़े तीन बजे पुलिस को फोन पर यह सूचना मिली कि दहानु तालुका के कासा इलाके में एक मंदिर के निकट स्थित आवासीय सह वाणिज्यिक भवन में आग लग गई है।

पुलिस ने यहां जारी एक विज्ञप्ति में बताया कि भवन के भूतल और प्रथम तल पर किराने की कई दुकानें और गोदाम थे, जो आग में पूरी तरह जलकर खाक हो गए। जिला ग्रामीण पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी हेमंत काटकर ने बताया कि आग में जलकर एक व्यक्ति की मौत हो गई, जिनकी पहचान किराना दुकान के सह-मालिक अजीज विरानी (46) के तौर पर हुई है। उन्होंने बताया कि शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया। पुलिस ने बताया कि हालांकि भवन के दूसरे तल पर मौजूद चार अपार्टमेंट के निवासियों को वहां से सुरक्षित निकाल लिया गया। पुलिस ने बताया कि घटना स्थल के लिए दमकल की 3 गाडिय़ों को रवाना किया गया और आग पर काबू पा लिया गया।