झांसी (अब्दुल सत्तार): झांसी के थाना मऊरानीपुर क्षेत्र में शनिवार को बुंदेलखंड के बाहुबली बदमाश पूर्व ब्लॉक प्रमुख लेखराज और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ के मामले में एक नया मोड़ आ गया और फर्जी मुठभेड़ की पोल 24 घंटे में ही खुल गयी, लेखराज और मऊरानीपुर कोतवाल सुनीत कुमार के बीच हुई वार्ता का ऑडियो वायरल हो गया है, जबकि एक दिन पहले झांसी के पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार सिंह ने दावा किया था कि मऊरानीपुर पुलिस और पूर्व ब्लॉक प्रमुख लेखराज यादव और उसके अन्य साथियों के बीच लंबी मुठभेड़ हुई, जिसमें थाना प्रभारी को चोट लग गई और बदमाश मौके से भागने में सफल रहे, इसी बीच शनिवार देर रात बदमाशों और पुलिस के बीचका वह ऑडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ, जिसने पुलिस प्रशासन को गंभीर सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया,

मामला तूल पकड़ने के बाद एसएसपी ने तत्काल मऊरानीपुर थाना प्रभारी सुनीत कुमार को निलंबित कर दिया है, सवालों के घेरे में आई मुठभेड़ करीब 8 मिनट 33 सेकंड के इस ऑडियो ने पुलिस महकमे में खलबली मचाकर रख दी है, ऑडियो में पुलिस अधिकारी बार-बार सिस्टम की बात करता नजर आता है और बदमाश को बताता है कि आपका लोकेशन ट्रेस हो रहा है,

एनकाउंटर से पहले हुई इस टेलीफोनिक वार्ता में कोतवाल पार्षद प्रकरण को मिलकर निपटाने का सुझाव देते हुए सुनाई दे रहे हैं, अब पुलिस पर आरोप लग रहा है कि पुलिस ने अपराधियों से सांठगांठ कर ली थी जिस वजह से अपराधी भागने में कामयाब रहे, पुलिस अधिकारी हुआ सस्पेंड ऑडियो में पुलिस अधिकारी प्रदेश में चल रहे एनकाउंटर को लेकर कई रहस्य भी खोलता नजर आ रहा है,

साथ ही एनकाउंटर के लिए दबाव होने की बात भी कह रहा है, ऑडियो में पूर्व ब्लॉक प्रमुख कोतवाल से अपने खिलाफ चल रहे प्रकरणों में पुलिस कार्रवाई का राज खुलवाता सुनाई दे रहे हैं, इस मामले में एसएसपी विनोद कुमार सिंह ने जी मीडिया को बताया कि वायरल ऑडियो की जांच की जा रही है और फिलहाल कोतवाल को सस्पेंड कर दिया है, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वह ऑडियो जी मीडिया के पास मौजूद है और जी मीडिया उसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता,

सोशल मीडिया पर ऑडियो हुआ वायरल एनकाउंटर के बाद मऊरानीपुर कोतवाल सुनीत कुमार और बुंदेलखंड के बाहुबली लेखराज, जिसके खिलाफ 75 से ज्यादा मुकदमे उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के विभिन्न थानों में दर्ज हैं, दोनों के बीच का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है, एनकाउंटर करने से पहले झांसी पुलिस और बदमाशों के बीच हुई इस तथाकथित बातचीत ने योगी सरकार के सुशासन और कानून-व्यवस्था की पोल खोल दी है,

सोशल मीडिया पर वायरल इस ऑडियो में पुलिस अधिकारी ने दावा किया कि अगर झांसी में भाजपा के जिलाध्यक्ष संजय दूबे और भाजपा बबीना विधायक राजीव सिंह परीक्षा नेताओं को सिस्टम में नहीं लिया तो सब के सब मारे जाओगे,