केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राज्य सभा के अपने अगले कार्यकाल के लिए आज सभापति वेंकैया नायडू के चैंबर में शपथ ली.  65 वर्षीय जेटली को इस बार उत्तर प्रदेश से राज्य सभा के लिए चुना गया है, लेकिन वह अपनी बीमारी के कारण अब तक शपथ नहीं ले सके थे. उनकी गुर्दे की बीमारी का इलाज चल रहा है और उनके स्वास्थ्य की स्थितियों को देखते हुए उनके शपथ ग्रहण के लिए विशेष इंतजाम किया गया.

जेटली को आज  11 बजे राज्यसभा के सभापति एम. वैंकेया नायडू के कक्ष में शपथ दिलायी गई. जेटली को दोबारा चुने जाने के बाद तीन अप्रैल को पुनः राज्य सभा का नेता बनाया गया था. वह दो अप्रैल से अपने कार्यालय नहीं गए हैं और घर से ही काम कर रहे हैं.

जेटली के अलावा भाजपा के अनंत कुमार, राज्य में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद और कई अन्य वरिष्ठ नेताओं ने भी शपथ ली.

वित्तमंत्री को नौ अप्रैल को यहां अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ( एम्स ) में भर्ती कराया गया था, जहां उनका डायलिसिस किया गया. इससे पहले जेटली ने ट्विटर संदेश में कहा था कि उनके गुर्दे की तकलीफ और कुछ संक्रमण का इलाज चल रहा है.