वॉशिंगटन.  डोनाल्ड ट्रम्प कहा है कि वे उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन से बातचीत के लिए एकदम तैयार हैं। ये मुलाकात फोटो खिंचवाने से कहीं ज्यादा साबित होगी। ट्रम्प और किम 12 जून को सिंगापुर के सेंटोसा द्वीप के एक रिजॉर्ट में मुलाकात करेंगे। इस मुलाकात के कवरेज के लिए वहां दुनियाभर से करीब 2500 जर्नलिस्ट पहुंचेंगे।

मुझे लगता है, पूरी तरह तैयार हूं
- ट्रम्प ने रिपोर्टर्स से बात करते हुए कहा, "मुझे लगता है कि मैं मुलाकात के लिए अच्छी तरह तैयार हूं। मुझे नहीं लगता कि मैंने इसके लिए काफी तैयारी की। ये एक तरह से नजरिए का मामला है। ये आपकी इच्छा पर निर्भर करता है कि आप चीजों को लेकर क्या सोचते हैं। लेकिन ये भी सच है कि मुलाकात के लिए मैं लंबे वक्त से तैयारी कर रहा था।"
- एक सवाल के जवाब में ट्रम्प ने ये भी कहा, "ये मुलाकात के मायने फोटो खिंचवाने से कहीं ज्यादा साबित होंगे। ये एक प्रक्रिया है। मैं ऐसा पहले भी कह चुका हूं। मुझे लगता है कि ये केवल एक मीटिंग की डील नहीं होगी। ये मुलाकात शानदार होगी।"
- "इस मुलाकात के लिए हम लोग लंबे समय से काम कर रहे हैं। उत्तर कोरिया ने अपने कई दुश्मन तैयार कर लिए। कई देश उन्हें पसंद नहीं करते। मेरी कोशिश होगी कि एक अच्छे रिश्ते की शुरुआत हो।"
- "मैं तो ये कहना पसंद करूंगा कि एक ही मुलाकात में डील हो जाए। शायद ऐसा हो भी सकता है।"

मुलाकात इसलिए क्योंकि परमाणु कार्यक्रम खत्म कर चुके हैं
- ट्रम्प ने कहा, "उत्तर कोरिया ने अपना परमाणु कार्यक्रम बंद कर दिया है। अगर उन्होंने ऐसा नहीं किया होता तो वे स्वीकार्य नहीं होते। हम उन पर लगे प्रतिबंध नहीं हटा सकते। उन पर लगे प्रतिबंध काफी ताकतवर हैं। मैं काफी कुछ बोल सकता हूं, लेकिन अभी ये कहना ठीक नहीं होगा।"
- "आप ईरान का उदाहरण ले सकते हैं। उस पर भी कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं। वे भी इस बात को अच्छी तरह समझते हैं। लेकिन वे इस पर उतना काम नहीं कर रहे जितना उन्हें करना चाहिए। यही एक बड़ा अंतर है।"

ट्रम्प-किम की मुलाकात को लेकर खासी तैयारी
- ट्रम्प और किम की मुलाकात को लेकर अमेरिकी और उत्तर कोरियाई अफसरों की टीमें तैयारी में जुटी हुई हैं। दोनों देशों के अफसरों की कई बार मुलाकात हो चुकी है।
- गुरुवार को सीएनएन की रिपोर्ट में कहा गया था कि ट्रम्प और किम की मुलाकात 2 दिन की भी हो सकती है।
- मिनिस्ट्री ऑफ कम्युनिकेशन एंड इन्फॉर्मेशन के मुताबिक, सिंगापुर में ट्रम्प-किम की मुलाकात को कवर करने 2500 जर्नलिस्ट पहुंचेंगे।

उत्तर कोरिया से तनाव का लंबा इतिहास
- उत्तर कोरिया हाइड्रोजन बम समेत 6 परमाणु परीक्षण कर चुका है। 2017 में उसने इंटरकॉन्टीनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल समेत कई छोटी-बड़ी मिसाइलों के टेस्ट किए। कुछ मिसाइलें जापान के ऊपर से भी दागीं।
- अमेरिका ने अपनी ताकत दिखाने के लिए कोरियाई प्रायद्वीप में जंगी जहाज का बेड़ा भेजा। कई बार उत्तर कोरिया के ऊपर से बॉम्बर्स भी उड़ाए।
- उत्तर कोरिया को मनाने में दक्षिण कोरिया की अहम भूमिका रही। 27 अप्रैल को उत्तर और दक्षिण कोरिया के नेता डिमिलिट्राइज्ड जोन में मिले। दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जे-इन ने ट्रम्प के सामने किम से मुलाकात की पेशकश रखी, जिसे उन्होंने मान लिया।
- हालांकि ट्रम्प ने बाद में मुलाकात से इनकार भी कर दिया लेकिन बाद में फिर राजी हो गए।

- शांति की दिशा में पहल करते हुए किम ने मई में अपनी परमाणु परीक्षण साइट को खत्म कर दिया है।