बेंगलुरु:येदियुरप्पा के सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद कर्नाटक में सरकार के गठन को लेकर तैयारियां शुरू हो गई है, कांग्रेस-जेडीएस शासनकाल में कौन सीएम कौन होगा ये तो तय है लेकिन बाकि मंत्री कौन होंगे इसको लेकर असमंजस बरकरार है, प्रदेश में सरकार के गठन को लेकर मंगलवार(22 मई) को बेंगलुरू में कांग्रेस और जनता दल-सेक्युलर (जेडीएस) विधायकों की संयुक्त बैठक होने वाली है, बहुमत साबित करने और मंत्री पद को लेकर होगी चर्चा, कांग्रेस और जेडीएस की संयुक्त बैठक में कैबिनेट में मंत्री पद के बंटवारे और विधानसभा में बहुमत साबित करने की रणनीति को लेकर चर्चा होनी है, कयास लगाए जा रहे हैं कि सीएम पद जेडीएस के खाते में जाती है तो उप-मुख्यमंत्री और विधानसभा स्पीकर का पद कांग्रेस के खाते में जाती है, 

कुमारस्वामी ने राहुल और सोनिया से की मुलाकात
कर्नाटक में सियासी गठजोड़ के बीच जेडीएस नेता और प्रदेश के होने वाले सीएम कुमारस्वामी ने सोमवार (21 मई) को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी से मुलाकात की थी, राहुल, सोनिया से मुलाकात के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कुमारस्वामी ने कहा कि कांग्रेस महासचिव और कर्नाटक के प्रभारी के,सी, वेणुगोपाल उनके साथ कर्नाटक जा रहे हैं और बुधवार के शपथग्रहण से पहले सभी मामलों पर चर्चा कर सभी चीजों को अंतिम रूप दे दिया जाएगा, जनता दल (सेकुलर) के नेता ने कर्नाटक मंत्रिमंडल में दो मुख्यमंत्रियों की मांग के मुद्दे पर कहा, "स्थानीय नेता और वह (वेणुगोपाल) कल एकसाथ बैठकर उपमुख्यमंत्री नियुक्त करने के मामले पर सारी चीजों को तय करेंगे,

कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण में शामिल होंगे राहुल
राहुल ने ट्वीट किया, "एच,डी, कुमारस्वामी के साथ दिल्ली में इस शाम मेरी अच्छी और सौहाद्र्रपूर्ण मुलाकात हुई, हमने कर्नाटक के राजनीतिक हालात और आपसी हित के अन्य मुद्दों पर चर्चा की, मैं कर्नाटक के मुख्यमंत्री के रूप में बेंगलुरू में उनके शपथग्रहण समारोह में बुधवार को हिस्सा लूंगा,उल्लेखनीय है कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव में त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति सामने आने के बाद कांग्रेस और जद(एस) ने चुनाव बाद गठबंधन बनाया है,बीजेपी 104 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी, लेकिन वह बहुमत से दूर रह गई, कांग्रेस को 78 सीटें मिलीं,जबकि जद(एस) ने 37 सीटों पर जीत दर्ज की,