जोधपुर: जोधपुर में 55 साल के शख्स ने 16 साल की नाबालिग से दुष्कर्म किया. इसके छह महीने बाद पीड़ित किशोरी ने बच्ची को जन्म दिया है. इसका खुलासा अस्पताल की जांच में हुआ. किशोरी के पेट में दर्द की शिकायत करने परिजन अस्पताल पहुंचे तो पता चला कि उनकी बेटी 5-6 महीने की गर्भवती हैं. अस्पताल में शनिवार को प्री-मेच्योर डिलिवरी हुई और उसने बच्ची को जन्म दिया है. जबकि उसके माता-पिता गर्भपात कराना चाहते थे.

दोपहर 12 बजे उम्मेद अस्पताल में किशोरी ने बच्ची को जन्म दिया. किशोरी स्वस्थ है, लेकिन प्री-मैच्योर डिलीवरी की वजह से नवजात का वजन कम है और डॉक्टर उसकी स्थिति गंभीर बता रहे हैं. वहीं पुलिस ने नाबालिग किशोरी के बयान के बाद दुष्कर्म के आरोपी 55 वर्षीय अधेड़ को गिरफ्तार कर लिया है, उसे शनिवार को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया है.

माता-पिता के न रहने पर करता था शोषण
खांडा फलसा थाना इलाके में रहने वाली 16 साल की नाबालिग के माता-पिता मजदूरी करते हैं. दोनों रोजाना घर से निकल जाते और शाम को लौटते हैं. ऐसे में नाबालिग घर पर अकेली ही रहती थी. इस बीच मौका पाकर उसके घर के सामने खिलौने बेचने वाला 55 साल का पड़ोसी दुकानदार नाबालिग को दुकान पर बुला लेता और उससे बातें करता. खिलौने दिखाता और उसे कुछ खिलौने भी देता था. धीरे-धीरे बुजुर्ग ने उससे गलत हरकतें करनी शुरू कर दी और फिर एक दिन किशोरी के साथ दुष्कर्म किया.
परिजन नहीं चाहते थे बच्चा

बीते तीन फरवरी को नाबालिग के पेट असहनीय में दर्द हुआ, उसने मां को बताया. परिजन उसे उम्मेद अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डॉक्टरों ने चेकअप के बाद कुछ जांचें करवाईं. एकबारगी तो डॉक्टर व नर्सिंग स्टाफ भी दंग रह गए क्योंकि नाबालिग 5-6 माह के गर्भ से थी. परिजनों को बताया तो वो भी सकते में आ गए. परिजन कुछ समझ पाते, उससे पहले नाबालिग को अस्पताल में भर्ती करना पड़ा. इसके बाद परिजन कोर्ट में गर्भपात की प्रक्रिया शुरू करने में ही थे कि शनिवार दोपहर को नाबालिग की प्री-मैच्योर डिलीवरी हो गई.a