झारखंड, चतरा जिले के ईटखोरी थाना क्षेत्र के राजा केंदुआ गांव में दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है. जिससे वाकिफ होने के बाद किसी के भी रोंगटे खड़े हो जाएंगे. दरअसल, पंचायत के फैसले से नाराज युवकों ने गैंगरेप पीड़िता को पीटने के बाद जिंदा जलाकर हत्या कर दी. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

चतरा के राजा केंदुआ गांव में नाबालिग लड़की के साथ उसके प्रेमी ने ही रेप किया और परिवार वालों को जानकारी मिलने के बाद शुक्रवार सुबह में पंचायत बुलाई गई. करीब तीन घंटे तक चली पंचायत में आरोपी प्रेमी पर पचास हजार रुपए देने का फैसला सुनाया. पीड़ित के परिजनों के अनुसार गांव के धनू भुइयां ने देर रात नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म किया था.

इसी मामले को लेकर आज ग्रामीणों के सहयोग से मुखिया के उपस्थिति में पंचायत बुलाई गई थी. इस पंचायत में मुखिया तिलेश्वरी देवी और पंचायत समिति सदस्य रंजय रजक समेत ग्रामीण मौजूद थे. पंचायत ने आरोपों को सही मानते हुए आरोपी को पीड़ित परिवार को पचास हजार रूपए हर्जाना व एक सौ बार उठक-बैठक करने का सजा सुनाया, जिसके बाद खुद को अपमानित महसूस ककरते हुई आरोपी ने तो पहले पंचायत का निर्णय मानने से इनकार कर दिया बाद में अपने तीन अन्य सहयोगियों हगलू भुइयां, जगदीश भुइयां और संतोष भुईया के साथ मिलकर पीड़िता के घर मे घुसकर उसे जलाकर मौत के घाट उतार दिया.