चेन्नई, तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई के बंदरगाह पर शुक्रवार को जापानी तट रक्षक जहाज त्सुगारु (पीएलएच-02) के पहुुंचने पर उसका भव्य स्वागत किया गया। इस अवसर पर जहाज के कमांडिंग ऑफिसर युजी यामामातो ने कहा कि इस तरह के संयुक्त अभ्यास से दो राष्ट्रों के बीच सछ्वावना बढ़ेगी और संबंध मजबूत होंगे।

उन्होंने कहा इस तरह के अभ्यासों से समुद्री मोर्चे पर दोनों देशों के बीच आपसी समझ विकसित होगी। जापान की राजधानी टोक्यो में तट रक्षक मुख्यालय के लेफ्टिनेंट कमांडर कुराशिना ने कहा कि यह जहाज 18 जनवरी तक चेन्नई में रहेगा और फिर मलेशिया के पूर्व की ओर बढ़ेगा जहां यह एक अन्य सैन्य अभ्यास में भाग लेगा।

उन्होंने कहा कि जहाज एमवी अलोंद्रा रेनबो की घटना के बाद समुद्री सुरक्षा तथा सतर्कता के लिए तटरक्षक द्वारा इस तरह के संयुक्त अभ्यास किए जाते हैं। चेन्नई में 17 तथा 18 जनवरी को बंगाल की खाड़ी में यह अभ्यास किया जाएगा। इसमें भारतीय तटरक्षक के महानिदेशक राजेन्द्र सिंह और जापानी तटरक्षक के कमांडेंट एडमिरल सतोशी नाकाजीमा उपस्थित होंगे।