श्रीनगर : जम्मू कश्मीर के कुलगाम जिले में एक मां ने अपने बेटे से आतंकी न बनने की गुहार लगाई है. बताया जा रहा है कि कुलगाम के बुमब्रेथ के रहने वाला शख्स शोयब मोहम्मद लगभग 10 दिन पहले घर से कॉलेज के लिए निकला था, लेकिन देर शाम तक वापस नहीं लौटा. शोयब के गायब होने के लगभग 8 दिन खबर आई कि वह किसी आतंकी संगठन का हिस्सा बन गया है. 

बेटे के आतंकी संगठन में शामिल होने की खबर के बाद उसकी मां का दर्द छलका है. मीडिया के जरिए बेटे से गुहार लगाते हुए शोयब की मां ने कहा कि वह उसे पहले देकर मौत की नींद सुला दे, फिर आतंकी संगठन का हिस्सा बनें. 

वीडियो में आतंकी संगठनों से की अपील
बेटे से आतंक की राह पर न जानें की अपील करते हुए मां ने कहा, 'मैं शोयब की मां हूं, मेरा अल्लाह के अलावा कोई नहीं है. ऊपर खुदा है नीचे मैं हूं.  मैं मेहरबानी, मेहराबनी करके अपील करती हूं कि अगर शोयब किसी भी तंजीम के साथ है तो उसे वापस कर भेज दो. उसके इलावा मेरा कोई नहीं है. मैंने मेहनत, मजदूरी करके उसका भरण-पोषण किया है. मेरा न कोई मायका है और न कोई ससुराल. जो है सिर्फ शोयब ही है.'


5 दिन में नहीं लौटा तो जहर खाकर दूंगी जान...
वीडियो में शोयब की मां ने आतंकी संगठनों से अपील की है कि वह उसे वापस घर भेज दें. उन्होंने कहा कि वह नादान है और उससे गलती हुई है. आगे उन्होंने कहा कि शोयब अगर 5 से 10 दिनों में वापस घर नहीं आता है तो वह जहर खाकर जान दे देगी, उसके बाद उसके बेटे को जो भी करना है वह कर सकता है.

शोयब के पिता थी भी आतंकी कमांडर
बताया जा रहा है कि शोयब के पिता अरशद हुसैन लोन भी हिज्बुल का कमांडर था. 1995 में हुए एक एनकाउंटर में अरशद हुसैन मारा गया था. कयास लगाए जा रहे हैं कि शोयब सोशल मीडिया के जरिए आतंकी संगठन की ओर आकर्षित हुआ था.