मुंबई: वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज रुपये में गिरावट और ईंधन की बढ़ती कीमतों को लेकर प्रेस कांफ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने राहत देते हुए एक्साइज ड्यूटी घटाने का ऐलान किया। जिससे तेल कंपनियों के शेयरों में गिरावट दर्ज की गई। वहीं अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में कमजोरी के चलते विदेशी निवेशकों की ओर से हुई बिकवाली से भारतीय शेयर बाजार लुढ़ककर बंद हुए। 

दरअसल बम्‍बई शेयर बाजार का संवेदी सूचकांक 650 अंक की गिरावट के साथ 35 हजार 326 पर खुला और बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 806 अंक यानी 2.25 फीसदी की गिरावट के साथ 35,169 के स्तर पर बंद हुआ है। इसके अलावा एनएसई का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 259 अंक गिरकर 10,599 के स्तर पर बंद हुआ है। 

बता दें कि इस भारी गिरावट में निवेशकों के 3.31 लाख करोड़ रुपये डूब गए है। दअसल बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों के शेयरों का पूंजीकरण 1,43,71,351.05 करोड़ रुपये से गिरकर 1,40,39,742.92 करोड़ रुपये पर आ गया है।