जयपुर/नागौर:प्रदेश में तीसरे मोर्चे के विकल्प के तौर पर खड़ी होने का प्रयास कर रही राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (National democratic party) नगम निगम चुनाव में उतरेगी. पार्टी के संयोजक नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) ने गुरुवार को इसकी घोषणा की. पार्टी जयपुर, जोधपुर और कोटा के 6 नगर निगमों का चुनाव (Municipal Corporation elections) स्वतंत्र रूप से लड़ेगी. चुनावों के लिये पार्टी के तीनों विधायकों को प्रभारी बनाया गया है.

गुरुवार को नागौर में प्रेसवार्ता कर नागौर सांसद एवं पार्टी संयोजक हनुमान बेनीवाल ने बताया कि पार्टी पदाधिकरियों से हुई चर्चा के बाद इन चुनावों में उतरने का निर्णय लिया गया है. जयपुर, जोधपुर और कोटा तीनों शहरों के सभी 6 नगर निगमों के लिये पार्टी के प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतारे जायेंगे. पार्टी स्वतंत्र रूप से यह चुनाव लड़ेगी. बेनीवाल ने कहा कि हम पर चुनाव लड़ने के लिये जनभावनाओं का दबाव है. नगर निगम चुनाव में बीजेपी के साथ अभी गठबंधन की कोई बातचीत नहीं हुई है. पार्टी ने चुनाव का कामकाज देखने के लिये तीनों शहरों में अपने तीनों विधायकों को प्रभारी बनाया है.
एनडीए का घटक दल है आरएलपी
उल्लेखनीय है कि आरएलपी राजस्थान में एनडीए का घटक दल है. पिछले विधानसभा और लोकसभा चुनाव पार्टी ने बीजेपी के साथ गठबंधन करके लड़े हैं. राजस्थान की लोकसभा की कुल 25 सीटों में से 24 पर बीजेपी के सांसद है. वहीं नागौर सीट बीजेपी ने गठबंधन के तहत आरएलपी के लिये छोड़ी थी. इस पर आरएलपी के संयोजक हनुमान बेनीवाल विजयी हुये थे.

पश्चिम राजस्थान के ग्रामीण क्षेत्र में जनाधार
उनके सांसद बनने के बाद खाली हई खींवसर विधानसभा सीट भी बीजेपी ने गठबंधन के तहत आरएलपी को दी थी. उस पर बेनीवाल के छोटे भाई नारायण बेनीवाल जीते थे. आरएलपी के प्रदेश में तीन विधायक हैं. बेनीवाल ने पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान अपनी नई पार्टी का गठन किया था. पार्टी का जनाधार अभी ग्रामीण इलाकों में ज्यादा है. इनमें भी पश्चिम राजस्थान में पार्टी ने गत विधानसभा चुनावों में अच्छे वोट प्राप्त किये थे.