जयपुर:प्रदेश में अवैध हथियारों (Illegal weapons) के दम पर खूनी खेल जारी है. राजधानी जयपुर (Jaipur) समेत अन्य इलाकों में फायरिंग की घटनाएं आम हो चली हैं. अपना वर्चस्व स्थापित करने की चाह में बदमाश बेखौफ होकर सड़कों पर खूनी खेल खेल रहे हैं. फायरिंग की बढ़ती घटनाओं से खुद पुलिस भी सकते में है. शहर में अवैध हथियारों के खिलाफ अब जयपुर पुलिस कमिश्नरेट (Police commissioner) ने ऑपरेशन एक्शन अगेंस्ट गन 'आग' (AAG) की शुरूआत की है. इसके तहत पुलिस ने 20 हथियार, 151 कारतूस बरामद कर 15 बदमाशों को गिरफ्तार किया है.

पुलिस मुख्यालय ने दिये हैं निर्देश
अवैध हथियारों के दम पर हो रहे अपराधों को रोकने के लिए पुलिस मुख्यालय ने बदमाशों की धरपकड़ कर हथियारों की तस्करी से जुड़े नेटवर्क को तोड़ने के निर्देश दिए हैं. पुलिस मुख्यालय के निर्देशों के बाद जयपुर पुलिस कमिश्नरेट ने अवैध हथियारों के खिलाफ ऑपरेशन एक्शन अगेंस्ट गन यानी 'आग ' की शुरूआत की है. ऑपरेशन आग की शुरूआत के साथ ही पुलिस ने शहर के अलग-अलग इलाकों में कार्रवाई को अंजाम दे बड़ी मात्रा में अवैध हथियार बरामद कर हथियारों की खरीद-फरोख्त से जुड़े कई आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

बदमाशों की छोटी- छोटी गैंग पनपने लगी है
पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने बताया कि राजधानी में तेजी से बढ़ती प्रॉपर्टी की कीमतें और अवैध शराब के कारोबार के पैर पसारने के साथ ही यहां बदमाशों की छोटी- छोटी गैंग पनपने लगी है. इन गैंग्स ने अवैध हथियारों के दम पर शहर की सड़कों पर खुलेआम फायरिंग की वारदात आमजन को हिला रखा है वहीं पुलिस महकमे में भी हड़कंप मचा रखा है. ऐसे ही कई अपराधी अपहरण, शराब, माईनिंग और जमीनों के कारोबार से मिले पैसों के जरिए अवैध हथियारों के दम पर गुर्गों की फौज तैयार कर अपना दम ठोक रहे हैं. अपराधों की रोकथाम के लिए पुलिस ने ऑपरेशन आग के जरिए अवैध हथियारों और इनकी खरीद-फरोख्त से जुड़े लोगों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. पुलिस ने अवैध हथियारों के साथ कई बदमाशों को भी गिरफ्तार किया है. पुलिस ने उनके कब्जे से बड़ी मात्रा में अवैध हथियार और कारतूस बरामद किए है.