जयपुर:राजधानी जयपुर (Jaipur) में बुधवार दोपहर बाद मौसम ने अचानक पलटा खाया. एकाएक बदले मौसम से जबर्दस्त धूलभरी आंधी (Storm) चली. उसके चंद मिनटों बाद ही तेज हवा के साथ जोरदार बारिश (Rain) का दौर शुरू हो गया. इस दौरान कुछ इलाकों में ओले भी गिरे. हवा और बारिश का वेग इतना जबर्दस्त था कि एक बारगी सब कुछ धुंधला सा हो गया. कुछ देर तक चले बारिश के दौर के बाद मौसम पूरा साफ हो गया. लेकिन इस दौरान सड़कें पानी से तरबतर हो गईं.

किसानों पर फिर वज्रपात
इस दौरान चली तेज हवाओं को देखते हुए बड़ी संख्या में पेड़ पौधे भी गिरने का भी अंदेशा जताया जा रहा है. अंधड़ शुरू होने के साथ ही कई इलाकों में बिजली गुल हो गई. बेमौसम हुई इस बारिश के कारण किसानों पर एक बार फिर वज्रपात हुआ है. किसान अभी पिछले दिनों हुई भारी ओलावृष्टि से उबर भी नहीं पाए थे कि बुधवार को कुछ मिनटों के अधंड़ और बारिश के दौर ने उनकी बची-खुची उम्मीदों पर पानी फेर दिया है.

भीलवाड़ा में भी हुई बारिश

खेतों में इन दिनों गेहूं और सरसों की कटाई चल रही है. इस बारिश ने किसानों पर फिर कहर ढा दिया है. पिछले दिनों हुई ओलावृष्टि और आज हुई बारिश के बाद किसानों के सामने बड़ा संकट खड़ा हो गया है. जयपुर के अलावा अजमेर संभाग के भीलवाड़ा में भी शाम को 4 बजे बाद तेज हवा के साथ बारिश हुई. इससे पहले दोपहर तक बादल छाए. यहां तेज बारिश होने से किसानों को काफी नुकसान हुआ है.

ओलावृष्टि से फसलों में 80 से 90 फीसदी तक नुकसान हुआ था
उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों प्रदेश में मौसम के बिगड़े मिजाज ने किसानों को बर्बाद कर दिया था. भरतपुर और दौसा जिलों के कई इलाकों में तो ओलावृष्टि से फसलों में 80 से 90 फीसदी तक नुकसान हुआ था. इस खराबे के बाद सीएम अशोक गहलोत ने तत्काल गिरदावरी के आदेश दिए थे. इसके साथ नुकसान का जायजा लेने के लिए मंत्रियों को भी जिलों में भेजा था.