जयपुर:राजस्थान (Rajasthan) के नागौर (Nagaur) से राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के सांसद हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) के विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव पर संसद की विशेषाधिकार हनन समिति की दूसरी बैठक 11 अगस्त को आयोजित होने वाली है. इस अहम बैठक में सूबे के मुख्य सचिव राजीव स्वरूप, डीजीपी भूपेंद्र सिंह यादव और एडीजी इंटेलीजेंस उमेश मिश्रा संसदीय कमेटी के सामने पेश होंगे. विशेषाधिकार हनन समिति के सामने पेश होने से पहले मुख्य सचिव राजीव स्वरूप ने पुलिस महानिदेशक भूपेंद्र सिंह यादव, डीजी क्राइम एमएल लाठर, एडीजी इंटेलिजेंस उमेश मिश्रा के साथ बैठक की. मुख्य सचिव राजीव स्वरूप ने कमेटी के सामने पेश होने से पहले पूरी तैयारी रखने के निर्देश दिए हैं.

सांसद हनुमान बेनीवाल के काफिले पर हुआ था हमला

गौरतलब है कि पिछले साल 12 नवंबर को बायतु में सांसद हनुमान बेनीवाल के काफिले पर हमला हुआ था. इसमें पुलिस की ओर से एफआईआर दर्ज नहीं करने पर सांसद हनुमान बेनीवाल ने विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव शीतकालीन सत्र में पेश किया था. सांसद के प्रस्ताव को लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने स्वीकार कर के विशेषाधिकार हनन समिति को भेज दिया था. प्रस्ताव पर कमेटी ने अधिकारियों को तलब किया था. मामले में पिछली बार 17 मार्च को अधिकारी विशेषाधिकार हनन समिति के सामने पेश हुए थे, जिसमें केवल मुख्य सचिव का पक्ष सुना गया था. वहीं बाकी अधिकारियों को अगली बैठक में शामिल होने के निर्देश दिए गए थे.

पूर्व मुख्य सचिव हुए थे पेश

कमेटी के समक्ष उस समय के मुख्य सचिव डीबी गुप्ता ने बताया कि मामले की रिपोर्ट दर्ज कर ली गई थी. सांसद की कार पर दो पत्थर लगने की पुष्ठि हुई है, लेकिन अभी तक बयान दर्ज नहीं किए गए है. इस मामले की जांच सीआईडीसीबी को भी सौंपी गई है.