इस्लामाबाद, पाकिस्तान में छह वर्षीय बालिका की दुष्कर्म के बाद हत्या का मामला यहां की नेशनल असेंबली में उठा और सदन सदस्यों के बीच तीखी नोंकझोंक हुई। रिपोर्ट के अनुसार विपक्षी नेता खुर्शीद शाह ने इस तरह की घटनाओं को रोकने में नाकाम रहने पर पंजाब के गर्वनर की कड़ी आलोचना की है। शाह ने कहा कि अभिभावक अपने बच्चों को लेकर चिंतित हैं। संसद में अब निर्णय लेने की जरूरत है। अब समय आ गया है संसद को इस मामले में अपनी भूमिका तय करनी चाहिए। उन्होंने मांग की कि देश के सभी प्रांतों के अपराध की रिपोर्ट को संसद के समक्ष आना चाहिए।

गौरतलब है कि पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में छह वर्षीय बालिका की दुष्कर्म के बाद हत्या से नाराज लोगों ने दूसरे दिन भी प्रदर्शन करते हुए एक सरकारी इमारत में आग लगा दी। पिछले सप्ताह बालिका को उसके घर के बाहर से अगवा कर लिया गया था। मंगलवार को उसका शव कचरे में पड़ा मिला। जैनब के पिता अमीन अंसारी ने अपना दुख व्यक्त करते हुए कहा, जैसे दुनिया ही खत्म हो गई, मेरे पास कुछ कहने के लिए शब्द नहीं है। उन्होंने कहा कि वह प्रदर्शनकारियों की हिंसा का समर्थन नहीं करते लेकिन पुलिस पर उनके गुस्से को समझते हैं।