न्यूयॉर्क: भारत विदेश से धन प्राप्त करने के मामले में दुनिया का सबसे अग्रणी देश है. देश के प्रवासी कामगारों ने साल 2017 में 69 अरब अमेरिकी डॉलर विदेश से भारत भेजे. एक रिपोर्ट के मुताबिक बीते साल एशिया प्रशांत क्षेत्र में विदेश से 256 अरब डॉलर भेजे गए. रिपोर्ट ‘रेमिटस्कोप - रेमिटेंस मार्केट्स एंड अपॉर्च्यूनिटीज - एशिया एंड द पैसिफिक’ के अनुसार साल 2017 में भारत (69 अरब डॉलर), चीन (64 अरब डॉलर) और फिलीपींस (33 अरब डॉलर) में क्रमश : विदेश से सबसे ज्यादा रकम भेजी गई. पाकिस्तान (20 अरब डॉलर) और वियतनाम (14 अरब डॉलर) भी विदेश से बड़ी रकम प्राप्त करने वाले टॉप 10 देशों में शुमार हैं.

खाड़ी देशों से सबसे ज्यादा भेजी जाती है राशि
एशिया और प्रशांत क्षेत्र में भेजी जाने वाली रकम का 70 फीसद क्षेत्र के बाहर से आता है और उसमें भी खास तौर पर खाड़ी देशों से 32 फीसद, उत्तर अमेरिका से 26 फीसद और यूरोप से 12 फीसद. ऐसी उम्मीद है कि वर्ष 2030 तक विकासशील देशों को विदेश से भेजी जाने वाली रकम 6000 अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंच जाएगी. इसमें से आधी रकम एशिया प्रशांत क्षेत्र में आएगी जो अक्सर बेहद छोटे कस्बों और गांवों तक पहुंचती है.