नई दिल्ली : करोड़ों के घोटाले में भगोड़े नीरव मोदी के बारे में इंटरपोल ने नया खुलासा किया है. इंटरपोल की ओर से भारतीय जांच एजेंसियों को बताया है कि इस साल के मार्च में नीरव मोदी ने भारतीय पासपोर्ट पर तीन देशों की चार यात्राएं की हैं. हालांकि विदेश मंत्रालय ने फरवरी में उसका पासपोर्ट रद्द कर दिया था.

 रिपोर्ट के अनुसार भारतीय एजेंसियों को 5 जून को जो पत्र इंटरपोल से मिला है, उसके अनुसार, भगोड़े नीरव मोदी ने 15 मार्च से 31 मार्च के बीच भारतीय पासपोर्ट पर अमेरिका, इंग्लैंड और हांगकांग की यात्राएं की हैं. इंटरपोल के अनुसार, उसने इस पासपोर्ट पर चार यात्राएं की हैं.

भारतीय विदेश मंत्रालय ने 24 फरवरी को नीरव मोदी और उसके अंकल मेहुल चौकसी का पासपोर्ट रद्द कर दिया गया था. इसके बावजूद उसने ये यात्राएं की और सरकार को इसकी भनक भी नहीं लगी. इन दोनों के ऊपर पंजाब नेशनल बैंक का 13000 करोड़ से ज्यादा का लोन है. इसे इन्होंने चुकाया नहीं और देश से भाग गए.

ये मामला तब सामने आया था, जब पंजाब नेशनल बैंक ने इन दोनों के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी. लेकिन इन्हें पकड़ा जाए, उससे पहले ही ये दोनों फरार हो गए. अब अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज कर रहे हैं. पासपोर्ट रद्द करने के फैसले को चुनौती दी जा सकती है, लेकिन अभी तक ये पता नहीं चला है कि नीरव मोदी और मेहुल चौकसी ने ऐसा किया है.