नई दिल्ली:भारत आज बालाकोट एयरस्ट्राइक की पहली वर्षगांठ मना रहा है. एक साल पहले आज ही के दिन 26 फरवरी 2019 को भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान में खाइबर पख्तूनवा प्रांत के बालाकोट में जैश ए मोहम्मद के आतंकियों के कैंपों पर बम बरसाए थे. इस हमले में बड़ी संख्या में आतंकी मारे गए थे. बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद भारत ने आतंक के खिलाफ अपनी जीरो टॉलरेंस की नीति को दुनिया सामने साफ कर दिया था.

1/6

IAF ने यहां गिराए बम

Balakot Map

 

भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालकोट में बम से हमला करके जैश ए मोहम्मद के आतंकी कैंपो को तबाह कर दिया था.

2/6

मेराज लड़ाकू विमानों ने दिखाया पराक्रम

Meraj-2000

 

बालाकोट एयरस्ट्राइक में भारतीय वायुसेना ने 12 मेराज-2000 लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल किया था. 26 फरवरी को भारत के अलग-अलग एयरबेस से लड़ाकू विमानों ने उड़ान भरकर बालाकोट पर हमला किया था.  

3/6

स्पाइस बमों का हुआ इस्तेमाल

Spice Bomb

 

भारतीय वायुसेना ने बालाकोट एयरस्ट्राइक में स्पाइस बमों का इस्तेमाल किया था. स्पाइस बम की खासियत है कि ये बिल्डिंग की छत को फाड़ते हुए अंदर घुस जाता है और फिर जब बिल्डिंग के अंदर तापमान इतना ज्यादा हो जाता है कि अंदर मौजूद सबकुछ नष्ट हो जाता है.

  4/6

जैश ए मोहम्मद के आतंकी कैंप तबाह

Jaish e Mohammad terror camps

 

एयरस्ट्राइक में बालाकोट में जैश ए मोहम्मद के आतंकी कैंप तबाह हो गए थे. जैश ए मोहम्मद के आतंकी बड़ी संख्या में मारे गए थे. जैश यहां आतंकियों को ट्रेनिंग देता था.

  

5/6

आतंकियों को कड़ा जवाब

India Air Force

 

बालाकोट में भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी 2019 को सुबह 3.30 बजे हमला किया था.

  

6/6

चौथी पीढ़ी फाइटर प्लेन है मेराज-2000

Meraj-2000

 

मेराज-2000 चौथी पीढ़ी का एक मल्टीरोल, सिंगल इंजन जेट फाइटर प्लेन है. इसे फ्रांस में बनाया गया था.