मुंबई. इंटरकॉन्टिनेंटल कप के फाइनल में भारत ने केन्या को 2-0 से हराकर खिताब जीत लिया। दोनों गोल कप्तान सुनील छेत्री ने किए। छेत्री ने मैच के 8वें मिनट में गोल कर टीम को आगे कर दिया था। उसके बाद 29वें मिनट में दूसरा गोल कर टीम को 2-0 की निर्णायक बढ़त दिला दी। इसी के साथ उन्होंने सबसे ज्यादा अंतरराष्ट्रीय गोल करने के मामले में लियोनल मेसी की बराबरी कर ली है।

मेसी के बराबर पहुंचे छेत्री
- छेत्री ने 101 मैच में अब तक 64 गोल किए। सक्रिय खिलाड़ियों में सबसे ज्यादा गोल पुर्तगाल के कप्तान क्रिस्टियानो रोनाल्डो  ने 150 मैच में 81 गोल जबकि अर्जेंटीना के कप्तान लियोनल मेसी ने 124 मैचों में 64 गोल किए हैं। छेत्री इस मैच में दो गोल मारने के साथ ही मेसी की बराबरी कर लेंगे।

- मैच बाद छेत्री ने कहा, "इस टूर्नामेंट के लिए हमने कड़ी मेहनत की थी। मुंबई के फैन बेहतरीन हैं। सबका धन्यवाद।" उन्हें हीरो ऑफ द टूर्नामेंट का अवॉर्ड दिया गया।

थापा के पास पर हुआ पहला गोल

- मैच के आठवें मिनट में अनिरुद्ध थापा ने फ्री-किक पर छेत्री को पास दिया, जिसे उन्होंने गोलपोस्ट में डाल दिया। डिफेंडर संदेश झिंगन ने 29वें मिनट में छेत्री को एक लंबा पास दिया, जिसे गोल में डालकर छेत्री ने भारत की बढ़त को 2-0 कर दिया।

न्यूजीलैंड और चीनी ताइपे को हराकर फाइनल में पहुंची थी केन्या

- केन्या की टीम ने टूर्नामेंट में फाइनल से पहले 3 मैच खेले थे। जिनमें से उसे 2 में जीत और 1 में हार का सामना करना पड़ा था। उसने न्यूजीलैंड को 2-1 से और चीनी ताइपे को 4-0 से हराया। हालांकि, भारत के खिलाफ ही उसे सुनील छेत्री के 100वें मैच में 3-0 से हार का सामना करना पड़ा था।

एशिया कप की तैयारी कर रही भारतीय टीम

- अगले साल जनवरी में होने वाले एएफसी एशियाई कप की तैयारियों को पुख्ता करने के लिए भारत ये टूर्नामेंट खेल रहा है। इंटरनेशनल टूर्नामेंट में जीत से एशिया कप से पहले टीम का उसका आत्मविश्वास बढ़ेगा।