जैसलमेर:राष्ट्रभक्ति के जज्बे से ओत प्रोत भारत पाक सीमा से सटे सीमावर्ती जिले श्रीगंगानगर, बीकानेर, जैसलमेर एवं बाड़मेर में पहली बार 14 अगस्त को 'शहादत को सलाम' कार्यक्रम के तहत 650 किलामीटर की एक मानव श्रृंखला बनाई जा रही है। इसका मुख्य उद्देश्य सीमावर्ती इलाकों में सेना के जवानों के लिये राष्ट्र की सुरक्षा एवं देशभक्ति के भाव का जज्बा दिखाना है।

जिला कलेक्टर ओम कसेरा ने बताया कि ' शहादत को सलाम ' नामक मानव श्रृंखला में एक लाख से अधिक लोग शामिल होकर सीमावर्ती इलाकों में तैनात सैनिकों के देश भक्ति के जज्बे के प्रति राष्ट्रभक्ति का संदेश देंगे, साथ ही देश की रक्षा के लिए हर तैयार रहने का संदेश देंगे।

इस श्रृखंला को प्रशासनिक तौर पर पांच-पांच किलोमीटर के खंड में बनाकर बांटा गया है ताकि सभी लोगों को खाने पीने आदि की व्यवस्था पर निगरानी रखी जा सके।

उन्होंने बताया कि बीकानेर सीमा से सटे जैसलमेर की सीमा 180 आर।डी। मदासर से यह मानव श्रृंखला चालू होगी और मदासर, चिन्नू, अवाय, नाचना, मोहनगढ़, काणौद, हमीरा, जैसलमेर शहर, डाबला, छोड़, देवीकोट, फतेहगढ़ बाड़मेर सीमा तक लगभग एक लाख से अधिक लोग मानव श्रृंखला बनाएंगे।