वाशिंगटन:अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) ने कहा है कि उन्हें यूएई (UAE) को एडवांस F-35 फाइटर प्लेन (F-35 Fighter Plane) बेचने में कोई परेशानी नहीं है. उन्होंने कहा कि मित्र इजराइल के आपत्ति के बाद भी वह ऐसा कर सकते हैं. फॉक्स न्यूज से डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा "मुझे व्यक्तिगत रूप से कोई परेशानी नहीं है. उन्हें F-35 बेचने में मुझे कोई परेशानी नहीं है." ट्रम्प मंगलवार को यूएई और इजराइल के बीच शांति समझौते पर भी हस्ताक्षर करेंगे और F-35 को बेचने की प्रक्रिया को अमेरिका में नौकरियों के लिए भी शानदार बताया.

इस क्षेत्र में सिर्फ इजराइल के पास है अमेरिकी हथियार

छोटे और धनी देश यूएई (UAE) एक क्षेत्रीय सैन्य शक्ति बनने की महत्वाकांक्षा के लिए इन स्टील्थ फाइटर जेट्स पर नजर गड़ाए हुए है. इस क्षेत्र में इजराइल ही एकमात्र ऐसा देश है जिसके पास अमेरिकी हथियार है. इजराइल ने अपने अरब पड़ौसी देशों के खिलाफ भारी तकनीकी बढ़त बरकरार रखने पर जोर दिया है.

ट्रंप की मध्यस्तता के बाद दोनों देशों में हुआ समझौता
विश्लेषकों का कहना है कि व्हाइट हाउस के कहने पर इजराइल के साथ शांति समझौते के लिए यूएई ने F-35 विमानों को सौदे के रूप में उपयोग किया है. इस समझौते में बहरीन भी शामिल है. डोनाल्ड ट्रम्प की मध्यस्तता के बाद इन दोनों देशों ने इजराइल के साथ शांति समझौते के लिए सहमति जताई थी.

हम एक साथ कई चीजों पर काम करते हैं: जेरेड कुशनर

पिछले दिनों डोनाल्ड ट्रम्प के सलाहकार और उनके दामाद जेरेड कुशनर ने कहा था कि दशकों में राष्ट्रपतियों की तुलना में ट्रम्प इजराइल की सुरक्षा को ज्यादा मानते हैं. संयुक्त राज्य अमेरिका की शानदार सेना है और यह अमेरिका का साथी भी है. हम एक साथ कई कई चीजों पर काम करते हैं और ईरान के साथ सीमा पर वे सही हैं उन्हें वास्तविक खतरा है. मुझे लगता है कि बहुत अवसर हैं और हम इस पर काम कर प्राप्त कर सकते हैं.

गौरतलब है कि इजराइल के साथ संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन के शांति समझौते को लेकर प्रयासों के कारण डोनाल्ड ट्रम्प को नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नोमिनेट भी किया गया है. अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए चुनावों में भी अब ज्यादा समय नहीं बचा है.