खेल डेस्क भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सरदार सिंह ने बुधवार को अंतरराष्ट्रीय हॉकी से संन्यास ले लिया। वे एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीतने वाली टीम का हिस्सा थे। सरदार भारत के लिए 12 साल तक खेले। इस दौरान उन्होंने 350 मैचों में मिडफील्डर होने के बावजूद 19 गोल किए। सरदार ने कहा, 'मैंने 12 साल तक बहुत हॉकी खेली। अब युवाओं को जिम्मेदारी देने का समय आ गया है। मैंने अपने परिवार, फेडरेशन और मित्रों से विचार-विमर्श करने के बाद यह फैसला लिया।'

2014 एशियाड में अपनी कप्तानी में जिताया था गोल्ड सरदार इंचियोन एशियाई खेल में भारतीय दल के ध्वजवाहक थे। उनकी कप्तानी में टीम इंडियान ने स्वर्ण पदक जीता था। इसके बाद ही भारत को रियो ओलिंपिक 2016 का टिकट मिला था। सरदार 2008 सुल्तान अजलन शाह कप में कप्तानी करने वाले देश के सबसे युवा कप्तान थे। हॉकी इंडिया ने बुधवार को राष्ट्रीय शिविर के लिए 25 सदस्यीय टीम में शामिल नहीं किया गया। उसके बाद अटकलें लगाईं जा रही थी कि वे संन्यास ले सकते हैं। 2003-04 में सरदार जूनियर हॉकी टीम के साथ पोलैंड खेलने गए थे। इसके बाद 2006 में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए टीम में पहली बार सरदार को शामिल किया गया