लखनऊ:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) उत्तर प्रदेश के चित्रकूट में 297 किलोमीटर लंबे बुंदेलखण्‍ड एक्सप्रेस-वे (Bundelkhand Express-way) का 29 फरवरी को शिलान्यास करेंगे. इसके अलावा वह किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड का वितरण भी करेंगे. पीएम यहां करीब पांच घंटे गुजारेंगे. इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल आनंनदी बेन पटेल और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह पीएम की आगवानी करेंगे. आपको बता दें कि एक्सप्रेस-वे 6 लेन का होगा और चित्रकूट के भरतकूप इलाके के गोंडा गांव में एक्सप्रेस-वे शिलान्यास का कार्यक्रम स्थल बनाया गया है. ये एक्सप्रेस-वे चित्रकूट, बांदा, हमीरपुर, महोबा, जालौन, औरेया और इटावा होते हुए आगरा एक्सप्रेस-वे से जुड़ेगा.
यूपीडा के चेयरमैन ने कही ये बात
बुंदेलखण्‍ड एक्सप्रेस-वे के शिलान्यास को लेकर यूपीडा के चेयरमैन अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने कहा है कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण के साथ ही बुंदेलखण्‍ड को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऐलान किया था, जिसके बाद हमने उस पर काम शुरू किया. अब तक 97 प्रतिशत किसानों की जमीन ली जा चुकी है. सभी ने बहुत सहयोग दिया. इससे बुंदेलखण्‍ड के विकास को आगे बढ़ाने के साथ-साथ पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा. पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की तरह ही इसका काम भी 24 महीने में पूरा किया जाएगा. 29 फरवरी को पहले प्रधानमंत्री इलाहाबाद जाएंगे, उसके बाद दोपहर को चित्रकूट में रहेंगे. यहां कृषि विभाग की कई योजनाओं का शुभारम्भ करने के साथ साथ बुंदेलखण्‍ड को लेकर बड़ा तोहफा देंगे. पीएम के इस कार्यक्रम में कई जिलों के किसान भी खासतौर पर आ रहे हैं.
यूपी के लिए ये बड़ा तोहफा है- भाजपा
बीजेपी प्रवक्ता डॉ. चंद्रमोहन ने इसे उत्तर प्रदेश के लिए बड़ा तोहफा बताया है. उन्‍होंने कहा है कि हमारे प्रदेश अध्यक्ष जो खुद बुंदेलखण्ड से आते हैं, उन्होंने काफी समय से इसकी मांग उठाई थी. बुंदेलखण्ड को लेकर अब तक पिछली सरकारों ने सिर्फ राजनीति की और हमेशा से ही उपेक्षित रखा. बुंदेलखण्ड को लोग अब तक सिर्फ सूखे की वजह से जानते थे, लेकिन अब डिफेंस कॉरिडोर से लेकर एक्सप्रेस-वे तक बड़े तोहफे बुदेंलखण्ड के विकास के लिए ऐतिहासिक साबित होंगे. हालांकि विपक्ष ने योगी सरकार पर सियासत करने का आरोप लगाया है. नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने कहा है कि इस सरकार के पास गिनवाने के लिए सिर्फ शिलान्यास है. मोदी और योगी दोनों विकास के नाम पर यूपी के लोगों के साथ सिर्फ धोखा कर रहे हैं.