नई दिल्ली हरियाणा के भिवानी में एक छोटे से बच्चे की जान उसके चाचा ने बचाई। ये खबर सुनने में जितनी आसान लग रही है असल में ऐसा नहीं है। एक महीने के बच्चे को एक बिल्ली में मुंह में दबा ले जा रही थी और करीब 30 फुट की ऊंचाई से बिल्ली ने दो छलांग लगा दीं, लेकिन बच्चे के एक खरोच भी नहीं आई। इस अजीब ओ गरीब घटना में बच्चे को बचाने के लिए उसके चाचा ने छत से छलांग दी जिन्हें कमर में फैक्चर हो गया है।

खबर के मुताबिक घटना नंदराम कटला हालु बाजार की है जहां गुरुवार को  पुरुषोत्तम दास के घर में पूरा परिवार सो रहा था कि रात तभी उनका एक महीने का पोता अचानक चारपाई से गायब हो गया। घर में हंगामा हुआ तो सभी ने बच्चे को ढूंढना शुरू कर दिया।  चाचा ने घर की दूसरी मंजिल की छत से देखा तो दो मकान छोड़कर मोहल्ले की गली के एक प्लाट में बिल्ली बच्चे के साथ बैठी थी। 26 वर्षीय हेमंत ने बिना समय गंवाए 30 फुट ऊंचाई से प्लाट में छलांग लगा दी। छत से कूदने पर उसकी कमर में फ्रैक्चर हो गया और पैर में भी चोट आई। लेकिन हेमंत ने अपने भतीजे को बचा लिया। परिजनों ने दोनों बच्चे और चाचा दोनों को एक निजी अस्पताल में भर्ती करा दिया है।

बच्चे की मां ने बताया कि वह बेटे के साथ चारपाई सोई थी और सुबह साढ़े छह बजे शौच के लिए गई थी। कुछ देर बाद लौटी तो बच्चा चारपाई पर नहीं मिला। इसके बाद घर में बच्चे को ढूंढा गया, लेकिन बच्चा नहीं मिला। शोर से पूरा मोहल्ला बच्चे को आसपास ढूंढने में लगा। तभी छत पर शो रहे बच्चे के चाचा हेमंत ने देखा कि बिल्ली कुछ दूरी पर बच्चे के साथ बैठी है। छत से कूदकर हेमंत ने बच्चे को बचा लिया। परिवार वाले इसे गणपति की मेहरबानी बता रहे हैं।