जयपुर:गुर्जर आरक्षण को लेकर बनाई गई मंत्रियों की कमेटी सक्रिय है। वहीं सीएस डीबी गुप्ता हालात की लगातार मॉनिटरिंग करके निर्देश दे रहे हैं । अब पूरी सरकारी मशीनरी मंत्री विश्वेन्द्र सिंह और मध्यस्थ ias नीरज के पवन के इशारे पर निगाहें टिकाए हुए हैं। जिससे हालात अनुसार प्रभावी कदम उठाए जा सकें।

गुर्जर आंदोलन को लेकर सीएस डीबी गुप्ता लगातार फीडबैक ले रहे हैं। सवाई माधोपुर व भरतपुर कलेक्टर सहित तमाम गुर्जर बहुल व आपसपास के जिलों के कलेक्टर्स सीएस से नियमित संपर्क में हैं और उनसे मिले फीडबैक अनुसार वे निर्देश दे रहे हैं। वे अरावली अवैध खनन मामले में दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट मामले में सरकारी पक्ष रखने के बाद दिल्ली से लौटे हैं लेकिन उन्होंने गुरुवार को ही एसीएस गृह के साथ बैठक करके जरूरी निर्देश दे दिए थे जिसके अनुसार सुरक्षा बल ने मौके पर और प्रभावित जिलों में मोर्चा संभाल रखा है। वहीं कल शाम को गुर्जर आरक्षण मामले पर बातचीत के लिए बनाई गई सरकार की कमेटी के आदेश निकलने के बाद अजमेर में दौरा करके बीच में आज सुबह ही चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा जयपुर लौटे लौटने के बाद सचिवालय में मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि विश्वेंद्र सिंह लगातार गुर्जर नेताओं के संपर्क में हैं। सिंह का संदेश मिलते ही हम जयपुर से रवाना हो जाएंगे और जरूरत अनुसार आंदोलनकारियों से धरना स्थल पर जाकर वार्ता करेंगे।

कमेटी में शामिल चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि सरकार के पास बातचीत के दरवाजे हमेशा खुले हैं। सरकार की इसी मंशा के चलते गुर्जरों से वार्ता के लिए मंत्रियों की  कमेटी बनाई गई है। 

गुर्जर आरक्षण आंदोलन शुरू होने साथ ही सरकार ने आईएएस नीरज के पवन को दूत बनाकर कल ही संघर्ष समिति से वार्ता के लिए भेज दिया है और उनके प्रयास रंग लाने भी शुरू हो गए हैं और  शाम 5 बजे वार्ता का 1 दौर होने के बाद सकारात्मक परिणाम की उम्मीद जताई जा रही है।