जयपुर, राजस्थान कांग्रेस के लिए गुजरात चुनाव महत्वपूर्ण है। राजस्थान कांग्रेस से ज्यादा यह चुनाव राजस्थान पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के लिए महत्वपूर्ण है। गुजरात चुनाव में पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का भविष्य दाव पर लगा है। गहलोत गुजरात चुनाव प्रभारी हैं और वे वहां पहले से ही डेरा डाले हुए हैं। प्रदेश कांग्रेस खासतौर पर गहलोत के लिए गुजरात चुनाव इसलिए महत्वपूर्ण है कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गृह राज्य है और इसमें जीत दर्ज कर वे अब तक की हार की सारी कसर निकाल लेना चाहते हैं मानो गुजरात में जीत तो सारे देश में जीत।

इस जीत से गहलोत पार्टी के भीतर मजबूत हो जाएंगे। हां यदि हार मिलती है तो गहलोत की स्थिति कमजोर हो सकती है। गुजरात चुनाव में यदि कांग्रेस ने मोदी के किले को ध्वस्त कर दिया और बराबरी पर लाकर खड़ा कर दिया तो गहलोत अपने आप प्रदेश और पार्टी में और मजबूत होकर उभरेंगे। यदि पहले से स्थिति कमजोर हो गई तो प्रदेश और पार्टी के भीतर उनकी स्थिति और कमजोर होगी। इस चुनावी गणित को ध्यान में रखकर ही गहलोत अपने करीबी नेताओं को गुजरात की जंग में उतार रहे हैं।