नई दिल्ली, कथित तौर पर ऑक्सीजन की कमी के चलते यूपी के गोरखपुर में हुई बच्चों की मौतों परबीएसपी चीफ मायावती ने कहा है कि मासूमों की मौत के लिए यूपी सरकार ज़िम्मेदार है। उन्होंने कहा कि मासूमों के परिजनों को न्याय दिलवाने के लिए हम आगे आए हैं। मायावती ने दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की। वहीं, कांग्रेस नेता आरपीएन सिंह ने कहा है कि ये घटना यूपी सरकार की लापरवाही से हुई है। उन्होंने कहा कि ये सरकारी मेडिकल कॉलेज है और सरकार को ऑक्सीजन की सप्लाई के लिए समुचित पैसे देने चाहिए थे।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में 5 दिनों में 60 बच्चों की मौतों के मामले से पूरा देश सहमा हुआ है। कथित तौर पर ऑक्सीजन की सप्लाई में कमी इसकी वजह बताई जा रही है लेकिन सरकार इस बात से इंकार कर रही है। अस्‍पताल में ऑक्‍सीजन सिलिंडर सप्‍लाई करने वाली कंपनी पुष्‍पा सेल्‍स के मालिक मनीष भंडारी के घर पर छापा मारा गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि इस पूरे मामले में जांच के आदेश दे दिए गए हैं। उन्होंने वादा किया कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने दो मंत्रियों-हेल्थ मिनिस्टर सिद्धार्थ नाथ सिंह समेत- को मौके पर भेजा।

अस्पताल प्रशासन के साथ साथ अस्पताल के बाल रोग विभाग को चिट्ठी के जरिए सूचना दी गई थी कि अस्पताल में ऑक्सीजन सिलिंडर की कमी है। ये चिट्ठी बीआर मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल के साथ साथ गोरखपुर डीएम और उत्तर प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवा विभाग महानिदेशक को भेजी गई है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने 30 बच्चों की मौत पर गहरा दुख जताया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि उन्हें इस भयावह त्रासदी से बड़ा दुख हुआ है।