नई दिल्ली, वैश्विक स्तर पर दोनों कीमती धातुओं में तेजी के कारण शुक्रवार को दिल्ली थोक जिंस बाजार में भी सोना 215 रुपए चमककर ढाई सप्ताह के उच्चतम स्तर 29.200 रुपए प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। चांदी भी 350 रुपए की छलांग लगाकर 39,150 रुपए प्रति किलोग्राम बोली गई। अंतरराष्ट्रीय बाजारों में आज सोना हाजिर 4.25 डॉलर की मजबूती के साथ 1,250.95 डॉलर प्रति औंस पर रहा। गुरुवार को यह 1.1 प्रतिशत लुढक़ गया था। हालांकि, भविष्य में कीमतों में गिरावट की आशंका से जून का अमेरिकी सोना वायदा 1.8 डॉलर टूटकर 1,251 डॉलर प्रति औंस पर आ गया।

बाजार विश्लेषकों का कहना है कि दुनिया की अन्य प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर के कमजोर पडऩे से पीली धातु बढ़त में रही। डॉलर सस्ता होने से अन्य मुद्राओं वाले देशों के लिए सोना सस्ता हो जाता है। इससे इसकी मांग बढ़ती है और कीमत चढ़ती है। साथ ही गत दिवस मुनाफावसूली के चक्कर में सोने के 1.1 फीसदी फिसल जाने से आज कम भाव पर ग्राहकी आने से भी इसमें सुधार देखा गया। अंतरराष्ट्रीय बाजार में चाँदी वायदा 0.15 डॉलर की गिरकर 16.71 डॉलर प्रति औंस पर रहा।

स्थानीय बाजार में ग्राहकी आने से सोने में लगातार तीसरे दिन तेजी रही। सोना स्टैंडर्ड 215 रुपए चमककर 02 मई के बाद के उच्चतम स्तर 29,200 रुपए प्रति दस ग्राम पर पहुँच गया। सोना बिटुर भी इतनी ही तेजी के साथ 29,050 रुपए प्रति दस ग्राम पर रहा। हालांकि, आठ ग्राम वाली गिन्नी 24,400 रुपए पर स्थिर रही। वैश्विक समर्थन और स्थानीय औद्योगिक माँग के दम पर चांदी हाजिर 350 रुपए की छलांग लगाकर 39,150 रुपए प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। गत दिवस इसमें गिरावट देखी गई थी।

चांदी वायदा भी 235 रुपए की बढ़त के साथ 39,000 रुपए प्रति किलोग्राम बोली गई। सिक्का लिवाली और बिकवाली गत दिवस के क्रमश: 71 हजार और 72 हजार रुपए प्रति सैकड़ा पर टिके रहे। कारोबारियों ने बताया कि वैश्विक स्तर पर दोनों कीमती धातुओं में तेजी, रुपए में गत दिवस आई गिरावट और स्थानीय मांग आने से आज सोने-चांदी में तेजी रही। उनका कहना है कि आने वाले दिनों में भी इनकी कीमत वैश्विक बाजारों के रुख स्थानीय मांग पर निर्भर करेगी।