नईदिल्ली:बीजेपी नेता और पूर्व एमएलसी प्रशांत चौधरी समेत 12 लोगों पर मारपीट और अपहरण की धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ है.आरोप है कि गढ़ की जिला पंचायत सदस्य के पति सचिन को इन लोगों ने अगवा किया फिर उससे जमकर मारपीट की जिसके बाद पीड़ित ने एसएसपी से शिकायत की जिसके बाद पीड़ित सचिन के मुताबिक जिला पंचायत सदस्य के पति को मसूरी इलाके की दुकान से उठाकर बीजेपी नेता प्रशांत चौधरी और उनके साथियों ने मारपीट की और धमकाया.घटना से पीड़ित काफी डरा हुआ है.पीड़ित का ये भी आरोप है कि उस को जातिसूचक शब्द भी कहे गए.हालांकि प्रशांत चौधरी ने आरोपों से इनकार किया है.बताया जा रहा है कि आने वाले दिनों में जिला पंचायत की सीट आरक्षित होगी और प्रशांत चौधरी के अलावा राजेंद्र सिंह और उनके साथी नहीं चाहते कि इस बार जिला पंचायत सीट पर पीड़ित की पत्नी दावेदार बनें.

इस मामले पर आरोपी पूर्व एमएलसी प्रशांत चौधरी ने बताया कि चुनाव के दौरान राजेंद्र कुमार से सचिन ने 15 लाख रुपये लिए थे.ये रकम उनके ऑफिस में बैठकर दी गई थी.

अब सचिन इस रकम को लौटा नहीं रहा है.मंगलवार (10 जुलाई) को उसी रकम का तकादा करने गए थे लेकिन रुपये न देने पड़े इसके लिए सचिन ने ये ड्रामा किया है. पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.