नई दिल्ली, गर्मी के मौसम में त्वचा के संक्रमण का अधिक खतरा होता है। बैक्टीरिया की वजह से फोड़े-फुंसी की समस्या उत्पन्न हो जाती हैं। जिसकी वजह से काफी दर्द होता है। डॉक्टर के पास दवाई के लिए जाते हैं। लेकिन इस समस्या का समाधान हमारी रसोई में भी मौजूद है। करेला एक ऐसी सब्जी है जो खाने के साथ फोड़े-फुंसी को मिटाने की बेहद कारगर तरीका है।

करेले की जड़ या पत्ते को घिसकर फोड़ा या फुंसी पर लगाने से कुछ ही दिनों में ठीक हो जाएगी।

करेला कान में होने वाले दर्द को भी दूर करता है। इसके रस की 4-4 बूंदें कान में डालते रहें, इससे कान दर्द में आराम मिलेगा।

रोजाना एक गिलास करेले का जूस पीने से अग्नाशय का कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाएं नष्ट होती हैं। ऐसा इसलिए होता हैं क्यों कि करेले में मौजूद एंटी-कैंसर कॉम्पोनेंट्स अग्नाशय का कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं में ग्लूकोस का पाचन रोक देते हैं जिससे इन कोशिकाओं की शक्ति खत्म हो जाती हैं और ये खत्म हो जाती हैं।

करेले का जूस और फल के अलावा इसकी पत्तियां भी फायदेमंद होती है। इसका सेवन करने से पेट संबंधी समस्या दूर होती है।

इससे पथरी की शिकायत भी दूर होती है। इसलिए नियमित रूप से इसका सेवन करना चाहिए। करेले के अलावा खाली पेट इसका जूस पीना फायदेमंद होता है। लेकिन ताजे करेले के रस का ही सेवन करना चाहिए।

भूख नहीं लगने से शरीर को पूरा पोषण नहीं मिल पाता है जिससे कि स्वास्थ्य से सम्बंधित परेशानियां होती हैं। इसलिए करेले के जूस को रोजाना पीने से पाचन क्रिया सही रहती है जिससे भूख बढ़ती है।