फ्रैंकफर्ट, जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल ने आज कहा है कि जर्मनी ईरान के साथ हुए समझौते के तर्ज पर उत्तर कोरियाई परमाणु हथियार और मिसाइल कार्यक्रम को खत्म करने के लिए कूटनीतिक रूप से मदद करने को तैयार है। मर्केल ने बताया, अगर हमें वार्ता में शामिल होने के लिए कहा गया तो मै तत्काल हां कहूंगी। उन्होंने कहा, ईरान और छह महाशक्तियों के बीच साल 2015 में एक समझौता हुआ था। 

इसके तहत तेहरान को अपने परमाणु कार्यक्रम को वापस लेना था और इससे संबंधित जांच के लिये अपने परमाणु केंद्रों के दरवाजे खोलने थे, जिसके बाद ईरान से कुछ प्रतिबंध हटाए जा रहे हैं। यह काफी लंबा समय था लेकिन कूटनीति के हिसाब से महत्वपूर्ण था। मर्केल ने कहा, उत्तर कोरिया संघर्ष समाप्त करने के लिए मैं इस तरह के समझौते की कल्पना कर सकती हूं। यूरोप और खासतौर पर जर्मनी इसमें सक्रिय योगदान के लिए तैयार है। चासंलर का बयान ऐसे समय में आया है जब वाशिंगटन ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सोमवार को प्योगयांग पर कड़े प्रतिबंध लाने के लिए वोट की अपील की है।