सेंचुरियन, पूर्व भारतीय कप्तान और अब मशूहर कमेंटेटर सुनील गावस्कर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे क्रिकेट टेस्ट के लिए भारतीय टीम के चयन पर खासे भडक़े हुए हैं। भारत ने दूसरे टेस्ट के लिए अंतिम एकादश में तीन बदलाव करते हुए ओपनर शिखर धवन की जगह लोकेश राहुल, विकेटकीपर रिद्धिमान साहा की जगह पार्थिव पटेल और तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार की जगह इशांत शर्मा को टीम में शामिल किया है।

पूर्व सलामी बल्लेबाज गावस्कर ने केप टाउन में पहले टेस्ट में काफी सफल रहे भुवनेश्वर को बाहर करने पर सवाल उठाते हुए कहा कि इस बात में कोई तर्क नहीं कि भुवनेश्वर की जगह इशांत को क्यों चुना गया। इशांत को टीम में मोहम्मद शमी या जसप्रीत बुमराह की जगह लिया जा सकता था। उल्लेखनीय है कि केप टाउन में पहले दिन भुवनेश्वर ने दक्षिण अफ्रीका के शीर्षक्रम को झकझोरते हुए शुरुआती ओवरों में ही तीन विकेट निकाल दिए थे।

शिखर को बाहर करने पर भी गावस्कर भडक़े नजर आए और उन्होंने कहा कि शिखर को बलि का बकरा बनाया गया है। उन्होंने कहा कि शिखर पर हमेशा तलवार लटकी रहती है और एकाध खराब पारी के बाद उन्हें एकादश से बाहर कर दिया जाता है। दूसरे टेस्ट के लिए भारतीय टीम का चयन आलोचना का विषय बना हुआ है और रोहित शर्मा को एकादश में बनाए रखने तथा अजिंक्या रहाणे को फिर बाहर रखने पर लगातार सवाल उठ रहे हैं।