नई दिल्ली, इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर्व 25 अगस्त को है, इसकी तैयारियां पूरे जोर-शोर से चल रही हैं। गणेश चतुर्थी के दिन पूरी विधि-विधान से भगवान गणेश का पूजन करने से गणपति प्रसन्न होते हैं और भक्त की सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं। इस बार गणेश चतुर्थी पर पूजा का शुभ मुहूर्त क्या रहेगा इसके बारे में हम आपको यहां बता रहे हैं....

शुभ मुहूर्त...

सुबह 11ः06 से 1 बजकर 39 मिनट।

पौराणिक प्रमाणों के अनुसार, भगवान गणेश का जन्म दिन के मध्याह्न में हुआ था, इसी कारण गणेश पूजन की यह उपरोक्त अवधि, जो कि लगभग 2 घंटे 33 मिनट की है, हर प्रकार से उत्तम है।

24 अगस्त: चंद्रमा को नहीं देखने का समय- 20ः27 बजे से शाम 21ः02 बजे तक।

25 अगस्त: चंद्रमा को नहीं देखने का समय- 09ः00 बजे से 21ः41 बजे तक।

पूजन-विधि:-

गणेश चतुर्थी के दिन सुबह जल्दी उठकर सोने, चांदी, तांबे और मिट्टी के गणेश जी की प्रतिमा स्थापित कर शोडशोपचार विधि से उनका पूजन करें। पूजन के बाद चंद्रमा को अर्घ्य देकर ब्राह्मणों को दक्षिणा दें, मान्यता के अनुसार इन दिन चंद्रमा की तरफ नही देखना चाहिए, इससे दोष लगता है। पूजा के बाद गणपति को 21 लड्डुओं का भोग अवश्य लगाएं।