न्यूयॉर्क:ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के टॉप-3 में पहली बार तीन ऐसे अमीरों ने जगह बनाई है जो टेक कंपनियों के मालिक हैं। शनिवार की रैंकिग में अमेजन के फाउंडर जेफ बेजॉस 142 बिलियन डॉलर (9.76 लाख करोड़ रुपए) की संपत्ति के साथ पहले नंबर पर हैं। माइक्रोसॉफ्ट के बिल गेट्स 94.2 बिलियन डॉलर (6.47 लाख करोड़ रुपए) के साथ दूसरे और फेसबुक के फाउंडर सीईओ मार्क जकरबर्ग 81.6 बिलियन डॉलर (5.61 लाख करोड़ रुपए) की नेटवर्थ के साथ तीसरे स्थान पर हैं।

जकरबर्ग ने बर्कशायर हैथवे के वॉरेन बफे को पीछे छोड़ दिया। बफे 81.2 बिलियन डॉलर (5.58 लाख करोड़ रुपए) के साथ चौथे नंबर पर हैं। ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स दुनिया के 500 अमीरों की रैंकिंग बताता है। इसे रोजाना न्यूयॉर्क के शेयर बाजार बंद होने के बाद नेटवर्थ के आधार पर अपडेट किया जाता है।

फेसबुक के शेयर में उछाल से जकरबर्ग की रैंकिंग बढ़ी :शुक्रवार को फेसबुक का शेयर 2.4% तेजी के साथ 203.23 डॉलर (13,975 रुपए) के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया। फेसबुक के सबसे बड़े शेयरधारक के नाते जकरबर्ग को इस तेजी का फायदा मिला। उनकी संपत्ति बढ़ने से बिलेनियर इंडेक्स में वे तीन नंबर पर पहुंच गए। डेटा लीक विवाद की वजह से 27 मार्च को फेसबुक का शेयर 152.22 डॉलर (10,467 रुपए) तक लुढ़क गया जो उस वक्त 8 महीने का सबसे निचला स्तर था।

बफे ने 12 साल में 3.44 लाख करोड़ रुपए के शेयर्स दान किए : बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक 34 वर्षीय जकरबर्ग की मौजूदा संपत्ति (5.61 लाख करोड़ रुपए) 87 वर्षीय वॉरेन बफे से 3,000 करोड़ रुपए ज्यादा है। बफे किसी जमाने में दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति थे। अपनी संपत्ति का हिस्सा दान में देने की वजह से उनकी रैंकिंग गिर रही है। 2006 से अब तक वे बर्कशायर हैथवे के 29 करोड़ शेयर दान दे चुके हैं। इनकी मौजूदा कीमत 50 बिलियन डॉलर (3.44 लाख करोड़ रुपए) है। इस डोनेशन का सबसे ज्यादा हिस्सा गेट्स फाउंडेशन को दिया गया।


बिलेनियर इंडेक्स में मुकेश अंबानी 18वें नंबर पर :दुनियाभर के अमीरों में रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी 9.6 बिलियन डॉलर (2.72 लाख करोड़ रुपए) की संपत्ति के साथ 18वें नंबर पर हैं। 500 अमीरों के इस इंडेक्स में पहले 100 में जो भारतीय शामिल हैं, उनमें 89 वर्षीय पालौंजी मिस्त्री 50 वें नंबर पर, आर्सेलर मित्तल इंडस्ट्रीज के मालिक लक्ष्मी मित्तल 59वें नंबर पर, विप्रो के चेयरमैन अजीज प्रेमजी 79वें नंबर पर और एचसीएल टेक्नोलॉजी के फाउंडर शिव नडार 96 वें नंबर पर हैं।